Create

रविचंद्रन अश्विन को लड़ने में मजा आता है, बताई इसके पीछे की वजह

रविचंद्रन अश्विन
रविचंद्रन अश्विन

टीम इंडिया के प्रमुख ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने कहा कि उन्‍हें लड़ने में मजा आता है क्‍योंकि इससे उन्‍हें बेहतर प्रदर्शन करने के लिए प्रोत्‍साहन मिलता है। उन्‍होंने साथ ही कहा कि वह अपने प्रदर्शन के बारे में ज्‍यादा नहीं सोचते और हमेशा सर्वश्रेष्‍ठ देने का प्रयास करते हैं।

रविचंद्रन अश्विन टेस्‍ट क्रिकेट में भारत की तरफ से सबसे ज्‍यादा विकेट लेने वाले चौथे गेंदबाज हैं। उन्‍होंने 78 टेस्‍ट में 409 विकेट लिए हैं। इसके साथ ही पांच टेस्‍ट शतक भी अश्विन के नाम दर्ज हैं।

आईसीसी के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट ने एक वीडियो पोस्‍ट किया, जिसमें अश्विन ने अपने क्रिकेट करियर के बारे में बातचीत की है। उन्‍होंने कहा, 'मैं जो करता हूं, उसमें विश्‍वास रखता हूं या फिर मैं वो चीजें करता हूं, जिसे सही समझता हूं। ऐसा नहीं कि मुझे विवाद पसंद है, लेकिन मुझे लड़ने में मजा आता है और यही वजह है कि मैं आज यहा हूं।'

रविचंद्रन अश्विन के मुताबिक वह हमेशा बेहतर प्रदर्शन करने की कोशिश करते हैं, और यही बात उन्‍हें प्रोत्‍साहित करती है। उन्‍होंने कहा, 'टेस्‍ट क्रिकेट की खूबसूरती ये है कि आप हमेशा परफेक्‍ट बनने की कोशिश करते हैं, लेकिन आप उत्‍कृष्‍टता पर बस सकते हैं। मैं यह काफी सोचता हूं कि ऐसा करना है।'

उन्‍होंने आगे कहा, 'एक तरीके से कहा जा सकता है कि मैंने अब तक करियर में जो कुछ भी हासिल किया वो इसलिए क्‍योंकि संतुष्टि नहीं मिली। मैं लगातार सुधार करने की कोशिश करता हूं। मैंने बरकरार रखा कि अगर मुझे अलग चीजें करना पसंद नहीं होगी तो खेल के लिए जुनून खत्‍म नहीं हो जाए। मैंने बैठकर सोचा कि क्‍या किया जा सकता है।'

रेटिंग देने और नहीं देने वाले लोगों के समय नहीं : रविचंद्रन अश्विन

हाल ही में संजय मांजरेकर ने कहा था कि वह रविचंद्रन अश्विन को सर्वकालिक महान खिलाड़ी नहीं मानते क्‍योंकि सेना (दक्षिण अफ्रीका, इंग्‍लैंड, न्‍यूजीलैंड, ऑस्‍ट्रेलिया) देशों में उनका प्रदर्शन अच्‍छा नहीं है। हालांकि, 34 साल के अश्विन ने कहा कि वह इससे जरा भी चिंतित नहीं होते कि अन्‍य लोग क्‍या कह रहे हैं।

अश्विन ने कहा, 'मैं अपने प्रदर्शन के बारे में सोचता और पढ़ता नहीं हूं। अगर मुझे लोगों को संतुष्‍ट करना हो और उनसे अपने बारे में बात कराना हो तो मैं अपना पूरा जीवन ऐसा करने में बिता सकता हूं। यह बहुत शानदार है कि मैं अपने हिस्‍से का खेल रहा हूं और अपने परिवार का पेट पाल रहा हूं। इस खेल ने मुझे जिंदगी जीने का मतलब बताया है। मैं इसके बारे में बहुत उत्‍साहित हूं। मेरे पास लोगों के लिए समय नहीं कि वो मुझे रेटिंग दे या नहीं। यह किसी का विचार है और मैं अपनी जिंदगी अपने अंदाज में जीता हूं।'

Quick Links

Edited by Vivek Goel
Be the first one to comment