Create
Notifications

टॉम हैरिसन ने ईसीबी के सीईओ पद से इस्‍तीफा दिया

टॉम हैरिसन ने सात साल से ज्‍यादा समय तक ईसीबी के सीईओ पद पर काम किया
टॉम हैरिसन ने सात साल से ज्‍यादा समय तक ईसीबी के सीईओ पद पर काम किया
Vivek Goel

टॉम हैरिसन (Tom Harrison) ने मंगलवार को इंग्‍लैंड एंड वेल्‍स क्रिकेट बोर्ड (ECB) के प्रमुख कार्यकारी अधिकारी (CEO) पद से इस्‍तीफा दिया। उन्‍होंने इस भूमिका में सात साल से ज्‍यादा समय बिताया। वह जून में संस्था से विदाई लेंगे।

इंग्‍लैंड महिला क्रिकेट की प्रबंध निदेशक क्‍लेयर कोनर ने अंतरिम सीईओ बनने पर सहमति जताई है। वो तब तक पद पर रहेंगी जब तक हैरिसन का नियमित उत्‍तराधिकारी नहीं मिल जाता।

हैरिसन ने जनवरी 2015 में सीईओ पद की जिम्‍मेदारी संभाली थी। वे खेल के सभी स्‍तरों पर होने वाले निवेश पर ध्‍यान रखते थे और ईसीबी की इंस्‍पायरिंग जनरेशन स्‍ट्रेटजी की अध्‍यक्षता भी की, जिसका लक्ष्‍य क्रिकेट को बड़ा और ज्‍यादा से ज्‍यादा लोगों तक पहुंचाने वाला खेल बनाना था।

हैरिसन ने कोविड-19 महामारी में ईसीबी की प्रतिक्रिया की अध्‍यक्षता भी की थी क्‍योंकि क्रिकेट को आर्थिक चुनौतियों का सामना करना पड़ा था। क्रिकेट तब पहला खेल बना था, जिसने जुलाई 2020 में अंतरराष्‍ट्रीय कार्यक्रम में वापसी की थी।

खेल की प्रगति जिसमें बच्‍चों के हिस्‍सेदारी वाले कार्यक्रम ऑल स्‍टार्स और डायनामोस का लांच शामिल है, इसका खेल में अधिक निवेश के लिए समर्थन किया गया। हैरिसन के कार्यकाल में ईसीबी का वार्षिक राजस्‍व लगभग तीन गुना हुआ।

इस प्रगति में प्रसारण और कमर्शियल पार्टनर्स का समर्थन अहम रहा, जिसमें स्‍काई के साथ लंबे समय की सफल पार्टनरशिप और बीबीसी के साथ फ्री टू एयर पर लाइव क्रिकेट की वापसी शामिल है।

टॉम हैरिसन ने अपने बयान में कहा, 'पिछले सात सालों से ईसीबी के सीईओ पद की जिम्‍मेदारी संभालना बड़े सम्‍मान की बात रही। क्रिकेट दुनिया में अच्‍छाई के लिए एक अतिरिक्‍त शक्ति है और मेरा लक्ष्‍य खेल को बड़ा बनाना व सुनिश्चित करना था कि इंग्‍लैंड एंड वेल्‍स में ज्‍यादा लोग और समुदाय खेल से जुड़े और उन्‍हें महसूस हो कि इस खेल में उनकी जगह है। क्रिकेट के स्‍वास्‍थ्‍य की लंबी अवधि उसके बढ़ने की क्षमता और संबंधित रहने पर निर्भर करती है।'

उन्‍होंने आगे कहा, 'पिछले दो साल काफी चुनौतीपूर्ण रहे, लेकिन हम महामारी से बाहर आए, क्रिकेट के बड़े आर्थिक संकट से निकले और भेदभाव को संभालने के लिए समर्पित रहे व स्‍वागतपूर्ण खेल बनाने की यात्रा जारी रही। मैं इस भूमिका में अपना सबकुछ झोंका,लेकिन मेरा मानना है कि यह सही समय है कि इस काम को नई ऊर्जा वाला व्‍यक्ति संभाले।'


Edited by Vivek Goel

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...