Create

'युवा इंग्लिश बल्‍लेबाजों की कड़ी परीक्षा लेगा भारत'

डॉम सिबले
डॉम सिबले
reaction-emoji
Vivek Goel

इंग्‍लैंड के पूर्व कप्‍तान एलिस्‍टर कुक ने स्‍वीकार किया कि भारत के खिलाफ आगामी पांच मैचों की टेस्‍ट सीरीज में युवा इंग्लिश बल्‍लेबाजी क्रम की कड़ी परीक्षा होगी।

इंग्‍लैंड का हाल ही में न्‍यूजीलैंड के खिलाफ प्रदर्शन बेहद लचर रहा था और उसे दो मैचों की टेस्‍ट सीरीज में 1-0 की शिकस्‍त झेलनी पड़ी थी।

टफर्स और वॉन पोडकास्‍ट में कुक ने कहा कि इंग्‍लैंड के युवा बल्‍लेबाजों को भारत के गुणी गेंदबाजों का सामना करने में मुश्किल आएगी। कुक ने कहा, 'जब दबाव आएगा, तो इंग्‍लैंड की बल्‍लेबाजी ईकाई अच्‍छे से जवाब नहीं दे पाएगी। वह अधिकांश बिखर जाएगी। जब खेल अच्‍छी स्थिति में होगा या बहुत मुश्किल समय हुआ तो देखना रोचक होगा कि भारत के गेंदबाजों का किस प्रकार सामना करेंगे। उनके लिए शानदार चुनौती होगी।'

कुक ने साथ ही कहा कि इंग्‍लैंड के पास टॉप और मिडिल ऑर्डर में कई गैर-अनुभवी बल्‍लेबाज हैं, जो उनकी मुश्किलों की प्रमुख वजहों में से एक है।

इंग्‍लैंड के पूर्व कप्‍तान कुक ने कहा, 'हमें यह भी देखना होगा कि इन लड़कों ने कितने मैच खेले हैं। डॉम सिबले (20), रॉरी बर्न्‍स (25), जैक क्रॉले (14), ओली पोप (19) जो टॉप पांच में से चार बल्‍लेबाजों के पास 25 से भी कम टेस्‍ट मैचों का अनुभव है। जब टेस्‍ट सीजन हो तो आपको एक खिलाड़ी 20 से कम मैच वाला चाहिए होता था। आप चाहते हैं कि अन्‍य सभी 50-60 टेस्‍ट खेल चुके हो।'

उन्‍होंने आगे कहा, '2010-11 में जिस इंग्लिश टीम ने ऑस्‍ट्रेलिया का दौरा किया था, उसमें मैं, एंड्रयू स्‍ट्रॉस, जोनाथन ट्रोट, केविन पीटरसन, इयान बेल, पॉल कोलिंगवुड क्रमश: ओपनिंग से छठें नंबर पर थे। हम सभी ने 50-60 मैच खेले थे। हम सब उससे गुजर चुके हैं, जिससे इस समय सिबले, बर्न्‍स और क्रॉले गुजर रहे हैं।'

इंग्‍लैंड की धज्जियां उड़ा देगा भारत: टफनेल

इंग्‍लैंड के पूर्व बाएं हाथ के स्पिनर फिल टफनेल के मुताबिक मेजबान टीम ने अगर अपनी बल्‍लेबाजी क्रम में कुछ फेरबदल नहीं किया तो भारतीय गेंदबाज उनकी हालत मुश्किल कर देंगे।

टफनेल ने कहा, 'हम 50 ओवर गेम में जो रूट के बारे में बात करते हैं कि वह स्थिति के मुताबिक खेलते हैं। न्‍यूजीलैंड के खिलाफ उन दो टेस्‍ट में मुझे कुछ ऐसा नहीं नजर आया। मुझे अब भी सबसे ज्‍यादा चिंता टॉप-3 बल्‍लेबाजों की है। रॉरी बर्न्‍स इनमें से सुलझे हुए नजर आते हैं। ओली पोप रन नहीं बना पा रहे हैं। जेम्‍स ब्रेसी शामिल हुए, लेकिन वो घबराए हुए हैं। भारतीय गेंदबाजी ईकाई के सामने ये बल्‍लेबाजी क्रम संघर्ष करेगा और उन्‍हें इसे सुधारने के लिए कुछ करने की जरूरत है क्‍योंकि हम बुरी तरह पस्‍त हो सकते हैं।'

भारत और इंग्‍लैंड के बीच 4 अगस्‍त से पहला टेस्‍ट मैच शुरू होगा।


Edited by निशांत द्रविड़
reaction-emoji

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...