Create

शोएब अख्तर न्यूजीलैंड की टीम पर भड़के, कई तीखी बातें सुनाई

शोएब अख्तर के अनुसार पाकिस्तान की छवि खराब हुई है
शोएब अख्तर के अनुसार पाकिस्तान की छवि खराब हुई है

न्यूजीलैंड (New Zealand) द्वारा पाकिस्तान (Pakistan) दौरा छोड़कर जाने के निर्णय को लेकर पाकिस्तान के पूर्व गेंदबाज शोएब अख्तर का बयान आया है। अख्तर न्यूजीलैंड की प्रधानमन्त्री पर भी नाराज दिखे। अख्तर ने कहा कि कीवी टीम द्वारा यह निर्णय लेने के बाद पाकिस्तान की छवि काफी खराब हुई है। मैं पाकिस्तान क्रिकेट से ज्यादा देश की छवि को लेकर चिंतित हूँ।

कीवी प्रधानमंत्री से सवाल करते हुए अख्तर ने कहा कि वह (पीएम इमरान खान) आपसी तथ्यों के आधार पर बात कर रहे हैं, तो आप हमें इतने उच्च स्तर पर कैसे शर्मिंदा कर सकते हैं। आपको समझना होगा कि पाकिस्तान की छवि खराब हुई है। मुझे फिलहाल पाकिस्तान क्रिकेट की चिंता नहीं है, मुझे देश की छवि की परवाह है।

सुरक्षा अलर्ट को लेकर शोएब अख्तर ने क्राइस्टचर्च में हुए हमले की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि आपके वहां भी दुखद घटना हुई थी जब मुसलमानों को ठंडे खून में मार दिया गया था। अख्तर ने यह सवाल भी किया पूछा कि क्या विदेशी खिलाड़ी अब पीएसएल में खेलना छोड़ देंगे?

अख्तर ने कहा कि पाकिस्तान ने इस कथन को आगे बढ़ाने के लिए कड़ी मेहनत की है कि यह एक शांतिपूर्ण देश है, ताजा झटका देश के लिए शर्मिंदगी का काम करेगा। भारत और अंतरराष्ट्रीय मीडिया अब हमें नहीं छोड़ेंगे। पाकिस्तान क्रिकेट की छवि धूमिल हो गई है।

अख्तर ने कीवी प्रधानमंत्री से भी सवाल किया
अख्तर ने कीवी प्रधानमंत्री से भी सवाल किया

पाकिस्तान के पूर्व खिलाड़ी सिकंदर बख्त ने भी न्यूजीलैंड क्रिकेट पर सवाल दागे और गुस्सा जाहिर किया। उन्होंने कहा कि कीवी खिलाड़ी यहाँ पांच दिन तक अभ्यास कर रहे थे, एक पत्थर का टुकड़ा तक उनके ऊपर नहीं फेंका गया। अंतिम मिनट पर पीछे हटना निराशाजनक है। हमने इनके साथ टेस्ट मैच खेला, मैंने उस समय कहा था कि वे यहाँ खेलने के लिए नहीं आएँगे, अब एकदम वही हुआ है। भगवान के लिए अब उनकी (न्यूजीलैंड) कोई मदद मत करना।

उल्लेखनीय है कि रावलपिंडी वनडे मैच के टॉस में लगातार देरी होती रही और बाद में खबर आई कि सुरक्षा अलर्ट के चलते सीरीज ही रद्द हो गई है और कीवी टीम वापस अपने देश जा रही है। इस खबर ने वर्ल्ड क्रिकेट में हलचल मचाई है।

Quick Links

Edited by निरंजन
Be the first one to comment