'वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में पहुंचना अहम बात है'

रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) ने इंग्लैंड (England) के खिलाफ टेस्ट सीरीज में भारतीय टीम को जीत दिलाने में अपनी अहम भूमिका निभाई। बल्ले और गेंद दोनों से बेहतर खेल दिखाने के कारण अश्विन को प्लेयर ऑफ़ द सीरीज चुना गया और यह उन्हें आठवीं बार मिला है। चौथे टेस्ट में भारत की जीत के बाद अश्विन ने कहा कि सबसे अहम बात यह है कि हम वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में पहुंच गए हैं। इसके अलावा अक्षर पटेल के बारे में भी अश्विन ने प्रतिक्रिया दी।

अश्विन ने कहा कि हम वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में पहुँच गए, यह सबसे अहम बात है। ऑस्ट्रेलिया को ऑस्ट्रेलिया में हराना शिखर जीतना है। वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में जाना कोई मजाक नहीं है, यह हमारे लिए काफी मायने रखता है। वर्ल्ड कप फाइनल की तरह ही वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप का फाइनल भी अच्छा है। ऑस्ट्रेलिया में तीव्रता उच्च स्तर पर होने के बाद चेन्नई में पहले टेस्ट में यह कम रही। हर बार श्रृंखला में एक चुनौतीपूर्ण समय था, किसी ने अपना हाथ ऊपर रखा, इसलिए यह श्रृंखला जीत सही थी।

अपने शतक के बारे में रविचंद्रन अश्विन का बयान

भारतीय ऑफ़ स्पिनर ने कहा कि मैंने नहीं सोचा था कि मैं शतक बनाऊंगा। मैं फ्लो के साथ गया क्योंकि बल्ले के साथ मेरा फॉर्म शानदार नहीं था। मुझे नहीं लगता था कि मैं ऑस्ट्रेलिया में ग्यारह में रहूँगा, लेकिन सभी चोटों के बाद विशेषकर जडेजा और मुझ पर और अधिक जिम्मेदारी थी और मैं ऑस्ट्रेलिया और यहां के अपने प्रदर्शन से संतुष्ट हूं। हताश होना बुरा है।

ऋषभ पन्त के प्रदर्शन के बारे में अश्विन ने कहा कि अगर आप देखें कि पिछला एक साल ऋषभ का कैसा गया है, तो मैं उसे सफल होता देखकर खुश हूँ। महान खिलाड़ियों से तुलना करना थोड़ा अनुचित होगा। जिस तरह से वह आकर सीरीज में खेला है, वह उत्कृष्ट है। अक्षर पटेल के बारे में अश्विन ने कहा कि वह जडेजा की जगह टीम में आए और पहली सीरीज में ही काफी सटीक थे, वह तारीफ पाने के हकदार हैं।

Quick Links

Edited by निरंजन