कगिसो रबाडा और किरोन पोलार्ड के ऊपर भड़के फाफ डू प्लेसी, मैच में हार से बचने के लिए अपना रहे थे खास रणनीति

फाफ डू प्लेसी ने जताई नाराजगी (Photo Credit - Screenshot)
फाफ डू प्लेसी ने जताई नाराजगी (Photo Credit - Screenshot)

SA20 में सोमवार को जोबर्ग सुपर किंग्स और एमआई केपटाउन के बीच मुकाबला खेला गया जिसमें जोबर्ग सुपर किंग्स ने जबरदस्त तरीके से जीत हासिल की। हालांकि इस मैच के दौरान एक बड़ा विवाद भी दोनों टीमों के बीच देखने को मिला। जोबर्ग सुपर किंग्स की पारी के दौरान हार से बचने के लिए एमआई केपटाउन के कप्तान किरोन पोलार्ड (Kieron Pollard) ने समय बर्बाद करने की रणनीति अपनाई। इससे सुपर किंग्स के कप्तान फाफ डू प्लेसी (Faf du Plessis) काफी नाराज हो गए।

इस मुकाबले में फाफ डू प्लेसी की अगुवाई वाली जोबर्ग सुपर किंग्स ने किरोन पोलार्ड की एमआई केपटाउन को 10 विकेटों से बुरी तरह हरा दिया। बारिश की वजह से ये मैच 8-8 ओवरों का हुआ। पहले बैटिंग करते हुए एमआई ने 8 ओवर में 80 रन बनाए लेकिन डकवर्थ-ल्युइस नियम के तहत सुपर किंग्स को 8 ओवर में 98 रन बनाने का टार्गेट मिला। इस टार्गेट को उन्होंने 5.4 ओवर में ही बिना कोई विकेट गंवाए हासिल कर लिया।

टार्गेट का पीछा करते हुए जोबर्ग सुपर किंग्स ने तीन ओवरों में ही 57 रन बना दिए थे और उनकी शुरुआत काफी धमाकेदार हुई थी। हालांकि बारिश का खतरा भी लगातार मंडरा रहा था और कभी भी बारिश शुरु हो सकती थी। मैच का नतीजा निकलने के लिए कम से कम 5 ओवर होना जरूरी था और इसी वजह से फाफ डू प्लेसी चाहते थे कि उनकी टीम पांच ओवरों तक ज्यादा से ज्यादा रन बना ले।

फाफ डू प्लेसी रबाडा और पोलार्ड से हुए नाराज

वहीं दूसरी तरफ एमआई के कप्तान किरोन पोलार्ड ने समय बर्बाद करने की रणनीति अपनाई ताकि बारिश आ जाए और मैच का नतीजा ही ना निकले और उनकी टीम हार से बच जाए। यही वजह रही कि कगिसो रबाडा जब चौथे ओवर में गेंदबाजी के लिए आए तो रन-अप पूरा करने के बावजूद उन्होंने गेंद नहीं डाली और इससे फाफ डू प्लेसी नाराज हो गए और अंपायर्स के सामने अपना विरोध दर्ज कराया।

Quick Links

Edited by सावन गुप्ता