Create

"तेंदुलकर को वानखेड़े में आउट करना एक गलती थी" - शोएब अख्तर ने साझा किया आईपीएल 2008 से जुड़ा एक दिलचस्प किस्सा 

शोएब अख्तर ने सचिन तेंदुलकर का विकेट चटकाया था
शोएब अख्तर ने सचिन तेंदुलकर का विकेट चटकाया था

पाकिस्तान के कई क्रिकेट खिलाड़ियों को भारत में भी काफी पसंद किया जाता रहा है और उन्हीं में से एक नाम दिग्गज शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) का भी है। अख्तर को उनके करियर के दिनों में भारत में काफी समर्थन मिला। दिग्गज खिलाड़ी ने हाल ही में एक दिलचस्प किस्सा साझा किया, जब उन्हें मैदान पर भारतीय फैंस के गुस्से का भी सामना करना पड़ा। यह घटना आईपीएल (IPL) 2008 की है, जब अख्तर कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) की तरफ से खेलते थे।

शोएब अख्तर ने बताया कि अपने पहले आईपीएल में उन्होंने वानखेड़े के मैदान पर मुंबई इंडियंस के खिलाफ खेलते हुए सचिन तेंदुलकर को पहले ही ओवर में पवेलियन लौटा दिया था।

स्पोर्ट्सकीड़ा के शो 'एसके टेल्स' पर अख्तर ने बताया कि कैसे सचिन को आउट करने के बाद उन्हें मुंबई के समर्थकों के गुस्से का सामना करना पड़ा और इस वजह से तत्कालीन कप्तान सौरव गांगुली ने उनकी फील्डिंग पोजीशन को भी बदला था। उन्होंने कहा,

यह एक सुंदर मैदान और एक शानदार माहौल था। स्टेडियम पूरी तरह से भरा हुआ था। लेकिन मैंने पहले ही ओवर में सचिन तेंदुलकर को आउट कर दिया और यह एक बहुत बड़ी गलती थी। तब मुझे बहुत गालियां मिलीं जब मैं फाइन लेग पर था। सौरव गांगुली ने मुझे बोला, 'मिड-विकेट पर आओ, ये लोग तुम्हें मार देंगे। तुम्हें सचिन को आउट करने के लिए किसने कहा? वह भी मुंबई में?'

youtube-cover

काश मैंने वानखेड़े में और मैच खेले होते - शोएब अख्तर

मुंबई का वानखेड़े स्टेडियम भारत के सबसे बेहतरीन मैदानों में से एक माना जाता है अख्तर को भी यह मैदान काफी पसंद आता है। उन्होंने यहाँ के फैंस के जुनून की प्रशंसा की, जिस तरह से अपनी टीम का समर्थन किया और संन्यास के बाद जिस तरह से इस शहर ने उन्हें प्यार दिया। उन्होंने कहा,

मैंने मुंबई में बहुत काम किया और मुझे बहुत प्यार मिला। मैं खुश था क्योंकि वानखेड़े में किसी ने मेरे देश को गाली नहीं दी, किसी ने भी जातिवादी टिप्पणी नहीं की। वानखेड़े में क्राउड बहुत भावुक था। काश मुझे वहां और मैच खेलने को मिले होते।

आपको बता दें कि पाकिस्तानी दिग्गज ने 3 आईपीएल मैचों में कुल 5 विकेट चटकाए हैं। 2008 के सीजन के बाद उन्हें दोबारा लीग में खेलने का मौका नहीं मिला।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment