Create

महेंद्र सिंह धोनी के लिए सौरव गांगुली ने अपने करियर में कई त्याग किये : वीरेंदर सहवाग

पूर्व भारतीय खिलाड़ी वीरेंदर सहवाग का कहना है कि महेंद्र सिंह धोनी को एक सफल खिलाड़ी बनाने के लिए सौरव गांगुली ने अपने करियर में कई कुर्बानियां दी है। उन्होंने कहा कि जब से गांगुली ने अपनी जगह धोनी को बल्लेबाजी में ऊपरी क्रम में जाने दिया तब से उनका ग्राफ बढ़ा और आज वे ऐसे खिलाड़ी बनकर निकले हैं।

एक निजी चैनल से बात करते हुए सहवाग ने कहा कि हम एक समय बल्लेबाजी में प्रयोग कर रहे थे। हमने निर्णय लिया कि अगर अच्छी ओपनिंग साझेदारी मिलेगी, तो गांगुली नम्बर तीन पर आएंगे। अगर हमें साझेदारी अच्छी नहीं मिलेगी, तो हम इरफ़ान पठान और धोनी को पिंच हिटर के रूप में भेजकर स्कोर को बढ़ाएंगे।

अपनी बेबाक बातों के लिए चर्चा में रहने वाले सहवाग ने कहा कि गांगुली ने नम्बर तीन और चार पर धोनी के लिए अपनी जगह बलिदान कर दी। इस स्थान पर एक युवा खिलाड़ी को खेलने में विश्वास मिलता है।

गौरतलब है कि वीरेंदर सहवाग ने कई बार अलग-अलग जगहों पर भारतीय क्रिकेट के लिए गांगुली के योगदान की तारीफ हमेशा की है, इसी कड़ी में उन्होंने धोनी से सम्बंधित इन बातों को उजागर किया है। एक समय शुरूआती दौर में धोनी को खासे परेशानियों का सामना करना पड़ा था। अचानक उनके बल्लेबाजी क्रम को बदलते हुए विशाखापट्टनम में पाकिस्तान के खिलाफ ऊपर भेजा गया और उन्होंने 148 रनों की शानदार पारी खेली। इसके बाद महेंद्र सिंह धोनी ने अपने करियर को नई ऊँचाइयों पर पहुंचा दिया।

गांगुली के पद चिन्हों पर चलते हुए धोनी ने भी कई युवा खिलाड़ियों को प्रमोट करने का कार्य करते हुए उन्हें बल्लेबाजी में ऊपर भेजकर विश्वास भरने का काम किया है। इस मामले में माही की भी तारीफ की जानी चाहिए। यह एक सकारात्मक बात है कि एक सीनियर खिलाड़ी जूनियर का शानदार तरीके से सपोर्ट करता है। गांगुली और धोनी दोनों ने भारतीय क्रिकेट में अपना-अपना योगदान बड़े उम्दा तरीके से दिया है।

Edited by Staff Editor
Be the first one to comment