दक्षिण अफ्रीका ने T20I में बड़ा लक्ष्य हासिल करके वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया, वेस्टइंडीज की चौंकाने वाली हार

क्विंटन डी कॉक और रीजा हेंड्रिक्स की जोड़ी ने दक्षिण अफ्रीका के लिए तूफानी शुरुआत की थी
क्विंटन डी कॉक और रीजा हेंड्रिक्स की जोड़ी ने दक्षिण अफ्रीका के लिए तूफानी शुरुआत की थी

सेंचुरियन में खेले गए तीन मैचों की सीरीज (SA vs WI) के दूसरे टी20 मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका ने टी20 इतिहास का सबसे बड़ा लक्ष्य हासिल करते हुए वेस्टइंडीज को 6 विकेट से हराया। पहले बल्लेबाजी करते हुए वेस्टइंडीज ने 20 ओवर में 258/5 का स्कोर बनाया, जवाब में दक्षिण अफ्रीका ने सात गेंद शेष रहते 259/4 का स्कोर बनाकर मुकाबला अपने नाम किया।

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी वेस्टइंडीज की शुरुआत खराब। पारी की तीसरी ही गेंद पर ब्रेंडन किंग 1 के निजी स्कोर पर चलते बने। यहाँ से काइल मेयर्स और जॉनसन चार्ल्स का तूफानी अंदाज देखने को मिला और दोनों ने जबरदस्त अंदाज में बल्लेबाजी करते हुए शतकीय साझेदारी की। मेयर्स ने 27 गेंदों में पांच चौके और तीन छक्के की मदद से 51 रनों की पारी खेली और 137 के स्कोर पर आउट हुए। निकोलस पूरन कुछ खास नहीं कर पाए और 2 रन बनाकर आउट हो गए। चार्ल्स एक छोर पर जमे रहे और उन्होंने 39 गेंदों में शतक पूरा किया और वेस्टइंडीज के लिए सबसे तेज टी20 शतक का रिकॉर्ड तोड़ा। उन्होंने 46 गेंदों में दस चौके और 11 छक्के की मदद से 118 रन बनाये। रोवमैन पॉवेल ने 28 रनों का योगदान दिया। रोमारियो शेफर्ड ने आखिरी के ओवरों में धमाका किया और 18 गेंदों में नाबाद 41 रन बनाकर टीम को उसके सबसे बड़े टी20 स्कोर तक पहुंचाने का काम किया। दक्षिण अफ्रीका की तरफ से मार्को जानसेन ने तीन और वेन पार्नेल ने दो विकेट चटकाए।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी दक्षिण अफ्रीका के लिए क्विंटन डी कॉक और रीजा हेंड्रिक्स ने तूफानी शुरुआत दिलाई। इस जोड़ी ने पावरप्ले में ही 102 रन जड़कर, टी20 पारी के पहले छह ओवरों में सबसे ज्यादा रन का वर्ल्ड रिकॉर्ड बना दिया। दोनों बल्लेबाजों ने 10.5 ओवर में 152 रनों की बड़ी साझेदारी की। इस दौरान डी कॉक अपना शतक पूरा करने में कामयाब रहे और 44 गेंदों में 100 रन बनाकर आउट हुए। राइली रूसो ने 16 रन बनाये। हेंड्रिक्स ने भी 28 गेंदों में 68 रनों की तेजतर्रार पारी खेली। डेविड मिलर ने 10 रन बनाये। कप्तान एडेन मार्कराम और हेनरिक क्लासेन ने आखिरी के ओवरों में तेजी से रन बनाकर अपनी टीम को रिकॉर्ड चेस में सफलता दिला दी। मार्कराम ने 21 गेंदों में 38 और क्लासेन ने 16 रन नाबाद बनाये।

तीन मैचों की सीरीज में दोनों टीमें 1-1 की बराबरी पर हैं। अब सीरीज का फैसला 28 मार्च को जोहानसबर्ग में होगा। इस मुकाबले में जिस भी टीम ने जीत दर्ज की, सीरीज उसके नाम हो जाएगी।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
App download animated image Get the free App now