Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

शाकिब अल हसन के बैन वाले मामले में कई चीजें अब भी अनसुलझी हैं

Naveen Sharma
FEATURED WRITER
फ़ीचर
Modified 21 Dec 2019, 00:55 IST

 शाकिब अल हसन
शाकिब अल हसन

हाल ही में बांग्लादेश के कप्तान शाकिब अल हसन को सट्टेबाजों के बारे में आईसीसी को जानकारी नहीं देने के दोष में दो साल के लिए बैन किया गया है। एंटी करप्शन यूनिट को मैच फिक्सिंग की किसी भी कोशिश के बारे में नहीं बताने पर उन्हें धारा 2.4.4 का दोषी माना गया था। दो साल में से उन्हें एक साल के लिए सस्पेंड किया गया है।

आईसीसी ने जानकारी दी कि शाकिब पर फिक्सिंग के कोई आरोप नहीं है लेकिन उन्होंने सट्टेबाज से बातचीत की और बताया नहीं। सट्टेबाज दीपक अग्रवाल से शाकिब की व्हाट्सएप्प चैट की कई बातों का खुलासा भी हुआ। इनमें एक चौंकाने वाली चीज यह रही कि शाकिब ने स्वीकार किया कि दीपक अग्रवाल ने अंदरूनी जानकारी उनसे माँगी थी। ध्यान देने वाली बात यह है कि उनकी चैट से कुछ मैसेज डिलीट किये गए हैं।

यह भी पढ़ें: भारत-बांग्लादेश पहले टी20 मैच का सीधा प्रसारण कहाँ देखें

डिलीट मैसेज के बारे में शाकिब ने बताया कि इनमें अंदरूनी जानकारी माँगी गई थी जो उन्होंने उस व्यक्ति को नहीं बताई। उनकी इस बात पर कितना भरोसा किया जाए और डिलीट किये मैसेज में क्या बातचीत हुई थी, यह शाकिब अल हसन से बेहतर कोई नहीं जानता है। जिस शख्स ने चैट की जानकारी एक साल से ज्यादा समय तक छुपाकर रखी, उसकी बातों में कितनी सच्चाई है और क्या मामला है यह गहन जांच जा विषय है।

आईसीसी ने सिर्फ जानकारी नहीं देने का दोषी मानकर शाकिब को दो साल के लिए बैन किया है लेकिन इस मामले में कई अनसुलझे सवाल अभी भी हैं और डिलीट किये गए मैसेज उनमें प्रमुख है। आईसीसी ने इस बारे में सोचा या नहीं, यह भी किसी को नहीं पता। देखा जाए तो शाकिब अल हसन के मामले में कई राज बाहर ही नहीं आ पाए और वे फिक्सिंग के आरोपों से बच गए।

Hindi Cricket Newsसभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं।

Published 03 Nov 2019, 14:10 IST
Advertisement
Fetching more content...