Create
Notifications

3 भारतीय बल्लेबाज़ जिनके वनडे करियर का असामान्य अंत हुआ

Aryan Tiwari
ANALYST

#2 युवराज सिंह

युवराज सिंह
युवराज सिंह

युवराज सिंह एक सितारे की तरह विश्व क्रिकेट में आए, जब उन्होनें 2000 में हुई चैम्पियंस ट्रॉफी में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ़ 86 रन बटोरे थे।

युवराज भारतीय क्रिकेट के इतिहास में सबसे बड़े फिनिशर्स में से एक हैं और उनके 2011 के विश्व कप के प्रदर्शन को शायद ही कोई भुला सकता है। अपने वनडे करियर में युवराज ने 8701 रन बनाए है, वह भी 36.56 के अच्छे औसत और 87 के शानदार स्ट्राइक रेट से।

2011 वर्ल्ड कप की शानदार जीत के बाद युवराज कैंसर के कारण खेल से 20 महीने दूर रहे। 2014 के टी-20 वर्ल्ड कप में उनके खराब प्रदर्शन के बाद युवराज को भारतीय टीम में जगह नहीं दी गई।

उन्होनें 2017 में इंग्लेंड के खिलाफ शानदार वापसी करते हुए 150 रन बनाए, लेकिन वे लगातार अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए और इस कारणवश उन्हें 2017 के वेस्ट इंडीस दौरे के बाद भारतीय टीम के लिए कभी नहीं चुना गया।

PREVIOUS 2 / 3 NEXT
Edited by Naveen Sharma
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now