Create

'जो रूट ने कहा था कि एशेज में देश का प्रतिनिधित्व करना है, तो वे आएं और ऐसा करें'

इंग्लैंड की टीम के कुछ खिलाड़ियों ने बबल नियमों की शिकायत की है
इंग्लैंड की टीम के कुछ खिलाड़ियों ने बबल नियमों की शिकायत की है

ऑस्ट्रेलिया (Australia) के कप्तान टिम पेन (Tim Paine) के लिए इस साल के अंत में होने वाली एशेज सीरीज में इंग्लैंड (England) के कुछ टॉप खिलाड़ियों के नहीं आना चिंता का विषय नहीं है। पेन का कहना है कि अगर वे ऑस्ट्रेलिया में नहीं भी आते हैं, तो कोई फर्क नहीं पड़ेगा और एशेज समय के अनुसार ही चलेगी।

इंग्लैंड के टेस्ट कप्तान जो रूट और उनकी टीम के कुछ अन्य सदस्यों ने दौरे के लिए अपनी अनिच्छा के कारणों के रूप में ऑस्ट्रेलिया के सख्त क्वारंटीन और यात्रा प्रोटोकॉल का हवाला दिया है। दोनों बोर्ड दौरे के बारीक विवरण पर बातचीत कर रहे हैं, जिसके निर्णयों के बारे में जल्द ही इंग्लैंड के खिलाड़ियों को सूचित करना होगा।

SEN रेडियो से बातचीत में कंगारू कप्तान टिम पेन का कहना है कि एशेज होने जा रही है। जो रूट यहाँ हो या नहीं, पहला टेस्ट 8 दिसम्बर को शुरू होगा। यह हमसे ऊपर होगा और उनके पास ऑप्शन होगा कि विमान में चढ़ना या नहीं। आपके पास विकल्प है और यही दुनिया की खूबसूरती है, इंग्लैंड के खिलाड़ियों को कोई मजबूर नहीं कर रहा है। आप नहीं आना चाहते हैं, न आएं।

टिम पेन का पूरा बयान

टिम पेन ने यह भी कहा कि हमने एक भी इंग्लिश खिलाड़ी को यह कहते हुए नहीं सुना कि हम नहीं आ रहे हैं। यदि आप आना चाहते हैं और अपने देश का प्रतिनिधित्व करना चाहते हैं और एशेज श्रृंखला में खेलना चाहते हैं, जो रूट ने कहा था कि वे सब यही करना चाहते हैं। वे यही करने का सपना देखते हैं, तो आओ ऐसा करते हैं।

उल्लेखनीय है कि हाल ही में कुछ खबरें आई थी कि ऑस्ट्रेलिया में क्वारंटीन नियमों के कारण इंग्लैंड के कुछ टॉप खिलाड़ी ऑस्ट्रेलिया में खेलने के लिए नहीं जाएंगे। हालांकि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने प्लान से सम्बंधित एक प्रस्ताव ईसीबी को भेजा है। उसमें क्वारंटीन सम्बंधित बातों के बारे में ही जिक्र करने की संभावना है। देखना होगा कि आगे इस मामले को लेकर क्या फैसला लिया जाता है। शायद दोनों बोर्ड इसे सुलझा लेंगे।

Poll : क्या टिम पेन का बयान सही माना जाना चाहिए?

हाँ

नहीं

54 votes

Quick Links

Edited by Naveen Sharma
Be the first one to comment