AUS vs IND - ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट में भारतीय गेंदबाजों के 3 सबसे बेहतरीन स्पेल 

कपिल देव 
कपिल देव 

क्रिकेट को बल्लेबाजों का खेल कहा जाता है लेकिन टेस्ट क्रिकेट में यह बात काफी हद लागू नहीं होती है। टेस्ट क्रिकेट में मैच जीतने के लिए आपको विपक्षी टीम के 20 विकेट लेने होते हैं और ऐसा तभी संभव हो सकता है , जब आपके गेंदबाज बेहतरीन प्रदर्शन कर पाने में सक्षम हों। टेस्ट क्रिकेट में बल्लेबाज तभी बड़ा स्कोर बना पाने में कामयाब होता है जब विपक्षी गेंदबाज खराब प्रदर्शन करें।

कई बार टेस्ट मैचों में गेंदबाजों ने अपने बेहतरीन गेंदबाजी स्पेल से मैच का पास पलटा है। इसका हालिया उदहारण भारत (Indian Cricket Team) और ऑस्ट्रेलिया (Australia Cricket Team) के बीच एडिलेड के मैदान में खेला गया पहला टेस्ट है, जहाँ भारत की बल्लेबाजी दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाजों के सामने ढेर हो गयी और टीम मैच हार गयी।

यह भी पढ़े: AUS v IND - ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले 3 भारतीय बल्लेबाज

भारत और ऑस्ट्रेलिया आज के समय में क्रिकेट के दो सबसे बड़े प्रतिद्वंदी देश हैं। दोनों देशों के बीच कई मुकाबले खेले गए हैं और समय के साथ इनके बीच प्रतिस्पर्धा बढ़ी है। ऑस्ट्रेलिया की टीम क्रिकेट की सबसे मजबूत टीमों में से एक हैं और अपने घर पर यह टीम और भी खतरनाक हो जाती है। ऑस्ट्रेलिया में ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाजों के सामने किसी गेंदबाज का अच्छा प्रदर्शन करना काफी बड़ी उपलब्धि है। इस आर्टिकल में हम ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट में भारतीय गेंदबाजों के 3 सबसे बेहतरीन स्पेल के बारे में चर्चा करने जा रहे हैं।

ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट में भारतीय गेंदबाजों के 3 सबसे बेहतरीन स्पेल

#3 अजीत अगरकर - 6/41, एडिलेड (2003 - 04)

अजीत अगरकर
अजीत अगरकर

2003-04 की सीरीज के दूसरे टेस्ट में भारत की जीत मुख्य रूप से राहुल द्रविड़ (233) और वीवीएस लक्ष्मण (148) के शानदार योगदान के लिए याद की जाती है। हालांकि, दूसरी पारी में अगरकर की शानदार गेंदबाजी को भी इस जीत का अहम श्रेय जाता है। ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में कप्तान पोंटिंग के दोहरे शतक की मदद से 556 रन बनाये थे। इसके जवाब में भारत की तरफ से द्रविड़ और लक्ष्मण की जोड़ी ने भारत के लिए शानदार बल्लेबाजी की और ऑस्ट्रेलिया को मामूली बढ़त मिली।

इसके बाद दूसरी पारी में अगरकर मात्र 41 रन देकर 6 बल्लेबाजों को आउट किया और ऑस्ट्रेलिया को बड़ा स्कोर नहीं बनाने दिया। इसके बाद भारत ने आसानी से टारगेट हासिल कर एक यादगार जीत हासिल की।

#2 अनिल कुंबले - 8/141, सिडनी (2003 - 04)

अनिल कुंबले
अनिल कुंबले

सिडनी टेस्ट में सचिन की शानदार 241* रन की पारी के बाद भारत की तरफ कुंबले ने अपनी लेग स्पिन का जलवा दिखाया। भारत ने अपनी पहली पारी में सचिन के दोहरे शतक की मदद से 705/9 के स्कोर पर घोषित कर दी। इसके जवाब में ऑस्ट्रेलिया की तरफ से हेडन और लेंगर के बीच 147 रन की शानदार साझेदारी हुयी। इस जोड़ी को तोड़ने के लिए भारतीय कप्तान गांगुली ने कुंबले को गेंद थमाई। कुंबले ने इन दोनों को पवेलियन की राह दिखाते हुए पूरी टीम के बल्लेबाजों में से 8 खिलाड़ियों को 141 रन खर्च करके आउट किया।

#1 कपिल देव - 8/106, एडिलेड (1985 - 86)

कपिल देव
कपिल देव

पूर्व भारतीय कप्तान कपिल देव का यह प्रदर्शन आज भी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट मैच की एक पारी में सर्वश्रेष्ठ बना हुआ है। 1985-86 में बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के पहले टेस्ट में कपिल देव ने ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाजों को अपनी गेंदबाजी से खूब तंग किया और ऑस्ट्रेलिया को बड़ा स्कोर बनाने से रोकने में कामयाबी हासिल की। ऑस्ट्रेलिया पहली पारी में 381 रन ही बना पाया और भारत ने पहली पारी में 520 रन बनाये।

कपिल देव ने पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया के अहम विकेट चटकाए थे और उन बल्लेबाजों को पवेलियन का रास्ता दिखाया जो पूरी तरह से सेट हो गए थे। कपिल ने 106 रन देकर 8 विकेट अपने नाम किये थे।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar