Create
Notifications

क्रिकेट इतिहास में 'मांकडिंग' की 4 सबसे प्रसिद्ध घटनाएँ

Image result for Ravichandran Ashwin
आशीष कुमार
visit

गेंदबाज़ी करते हुए नॉन-स्ट्राइकर एन्ड या गेंदबाजी छोर पर खड़े बल्लेबाज़ के क्रीज़ से बाहर निकलने पर रन आउट करना 'मांकडिंग' कहलाता है। हालांकि, नैतिकता के आधार पर इसको ग़लत माना जाता है लेकिन क्रिकेट इतिहास में 'मांकडिंग' की कई घटनाएं हुई हैं।

ऐसी ही एक घटना हमें 25 मार्च को किंग्स इलेवन पंजाब और राजस्थान रॉयल्स के बीच खेले गए रोमांचक मैच में देखने को मिली जब गेंदबाज़ी कर रहे पंजाब के कप्तान ने गेंदबाज़ी छोर पर खड़े जोस बटलर के क्रीज़ से बाहर निकलने पर रन आउट कर दिया।

आईपीएल 2019 के चौथे मैच में किंग्स इलेवन ने राजस्थान रॉयल्स को 185 रनों का लक्ष्य दिया था। जबाव में राजस्थान रॉयल्स ने जोस बटलर की धमाकेदार बल्लेबाज़ी की बदौलत 12वें ओवर में ही 100 रनों का आँकड़ा पार कर लिया और ऐसा लग रहा था कि वे बड़ी आसानी से यह मैच जीत जाएंगे।

लेकिन कप्तान आर अश्विन के एक ओवर ने मैच का पासा ही पलट दिया। अश्विन ने 13वें ओवर में गेंदबाजी के समय क्रीज से बाहर निकले बटलर को 'मांकडिंग' के आधार पर रन आउट कर दिया। ऑफ स्पिनर को उनकी इस हरकत के लिए काफी आलोचना भी झेलनी पड़ी लेकिन यह घटना विश्व क्रिकेट में नई नहीं है।

यहां हम क्रिकेट इतिहास में हुई 'मांकडिंग' की 4 सबसे प्रसिद्ध घटनाओं के बारे में जानेंगे:

#4. आमिर कलीम बनाम मार्क चैपमैन

Mark Chapman plays for New Zealand now

कीवी ऑलराउंडर, मार्क चैपमैन ने हांगकांग की ओर से अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर की शुरुआत की थी। 2016 में एशिया कप क्वालीफायर में ओमान के खिलाफ मैच में उनके साथ यह घटना हुई थी।

ओमान द्वारा दिये गए 180 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए हांगकांग की टीम बाबर हयात की शानदार बल्लेबाज़ी की बदौलत एक आसान जीत की ओर बढ़ रही थी। उस समय चैपमैन 7 गेंदों में सिर्फ 8 रन बनाकर गेंदबाज़ी छोर पर खड़े थे। तभी बाएं हाथ के स्पिनर आमिर कलीम ने उन्हें मैनकडिंग द्वारा आउट कर दिया। हांगकांग यह मैच मात्र 5 रनों से हार गया था। गौरतलब है कि मार्क चैपमैन अब न्यूजीलैंड के लिए खेलते हैं।

youtube-cover

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं

#3. चार्ली ग्रिफ़िथ बनाम इयान रेडपथ

Griffith's was one of the earlier instances of Mankading

चार्ली ग्रिफ़िथ की मांकडिंग की घटना अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मे मांकडिंग की पहली घटना थी। हैवीवेट ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज के बीच 1969 के टेस्ट मैच में सर गैरी सोबर्स, बेसिल बुचर और डग वाल्टर्स ने यादगार प्रदर्शन किया था।

उस मैच में, चार्ली ग्रिफिथ ने मांकडिंग के ज़रिए इयान रेडपथ को रन आउट किया था। वेस्ट इंडीज़ ने उस मैच में ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिए 360 रनों का लक्ष्य दिया था। 360 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए, ऑस्ट्रेलिया एक यादगार जीत की ओर बढ़ रहा था। इस बीच गेंदबाज़ी छोर पर खड़े रेडपथ को ग्रिफिथ ने विवादास्पद तरीके से रन आउट कर दिया।

यह 5 मैचों की टेस्ट श्रृंखला का सबसे शानदार मैच था। वेस्टइंडीज ने पहला मैच मैच जीता, लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने अगले दो मैच जीतकर शानदार वापसी की। चौथा टेस्ट ड्रॉ पर समाप्त हुआ। ऑस्ट्रेलिया ने सिडनी में पांचवां मैच जीतकर श्रृंखला को 3-1 से अपने नाम किया।

#2. कीमो पॉल बनाम रिचर्ड नगारवे

Keemo Paul is playing for Delhi Capitals in IPL 12

हमने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में मांकडिंग की कई घटनाएं देखी हैं, लेकिन विश्व कप में कभी नहीं। लेकिन अंडर-19 विश्व को 2016 में ऐसा पहली बार हुआ था।

वेस्टइंडीज और जिम्बाब्वे के बीच ग्रुप स्टेज का रोमांचक मैच खेला जा रहा था और यह मैच जीतने वाली टीम अगले दौर में प्रवेश करने वाली थी। वेस्टइंडीज ने पहले बल्लेबाजी करते हुए जिम्बाब्वे को 226 रनों का लक्ष्य दिया।

जबाव में बल्लेबाजी करने उतरी जिम्बाब्वे की भी शुरुआत अच्छी रही लेकिन उनके विकेट नियमित अंतराल पर गिरते गए। अंतिम ओवर में ज़िम्बाब्वे का सिर्फ एक विकेट बचा था और उसे जीतने के लिए 3 रन चाहिए थे। लेकिन अंतिम ओवर में गेंदबाज़ी कर रहे कीमो पॉल ने गेंदबाज़ी छोर पर खड़े रिचर्ड नगारवे को मांकडिंग कर पवेलियन की राह दिखाई और ना केवल अगले दौर में प्रवेश किया बल्कि विश्व कप भी जीता।

सबसे खास बात यह रही कि वेस्टइंडीज ने यह विश्व कप फाइनल में भारत को हराकर जीता था।

#1. कपिल देव बनाम पीटर कर्स्टन

The World Cup-winning skipper also played his part in Mankading

एक कर्स्टन वो थे जिन्होंने 2011 में विश्व कप जीतने वाली भारतीय टीम का मार्गदर्शन किया था, जबकि दूसरे कर्स्टन को एक भारतीय खिलाड़ी द्वारा मांकडिंग के ज़रिए आउट किया गया था।

जी हाँ, भारत को उसका पहला विश्व कप जिताने के नौ साल बाद, कपिल देव ने मांकडिंग के ज़रिए एक बल्लेबाज़ को आउट किया, जिससे उनकी प्रतिष्ठा को थोड़ा नुकसान पहुंचा।

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच 9 दिसंबर, 1992 को 7-मैचों की श्रृंखला का दूसरा वनडे सेंट जॉर्ज पार्क मैदान में खेला जा रहा था। पहले बल्लेबाजी करते हुए, भारतीय टीम सिर्फ 147 रनों पर ढेर हो गई थी, इसमें ब्रायन मैकमिलन ने 4 विकेट झटके थे।

इसके बाद बल्लेबाज़ी करने उतरी अफ्रीका टीम ने एंड्रयू हडसन का विकेट जल्दी गंवा दिया लेकिन पीटर कर्स्टन और केपलर वेसल्स की जोड़ी टीम को जीत की ओर ले जा रही थी। नौवें ओवर में, कपिल देव ने गेंदबाज़ी छोर पर खड़े कर्स्टन को मांकडिंग कर पवेलियन की राह दिखाई।

हालांकि, इस सेटबैक के बावजूद, दक्षिण अफ्रीका मैच जीतने में सफल रहा और हैंसी क्रोनिए और डेव कैलाघन के बीच हुई शानदार साझेदारी की बदौलत दक्षिण अफ्रीका ने यह मैच आसानी से जीत लिया। प्रोटियाज ने यह वनडे श्रृंखला 5-2 से जीती थी।

youtube-cover

लेखक: शुवादित्य बॉस अनुवादक: आशीष कुमार

Edited by सावन गुप्ता
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now