Create

"2016 आईपीएल फाइनल में मिली हार आज भी चुभती है" - विराट कोहली ने सनराइज़र्स हैदराबाद के खिलाफ मिली हार को किया याद 

आरसीबी को मजबूत स्थिति से हार का सामना करना पड़ा था
आरसीबी को मजबूत स्थिति से हार का सामना करना पड़ा था

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) के पूर्व कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने 2016 के आईपीएल फाइनल को याद करते हुए हार पर अपनी निराशा जाहिर की। तीन बार के आईपीएल फाइनलिस्ट ने घरेलू मैदान पर अच्छी शुरुआत के बावजूद सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) के खिलाफ आठ रन से मैच गंवा दिया था।

हैदराबाद ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 7 विकेट खोकर 208 रन बनाये । लक्ष्य का पीछा करने उतरी बैंगलोर की टीम की तरफ से विराट कोहली और क्रिस गेल की फॉर्म में चल रही सलामी जोड़ी ने सिर्फ नौ ओवर में आरसीबी को 100 के पार पहुंचा दिया। हालांकि, टीम आखिरी के 9.3 ओवर में सात विकेट के नुकसान पर 80 रन ही बना सकी। कोहली की कप्तानी में टीम ने लीग स्टेज के आखिर के चार मैच जीतते हुए प्लेऑफ तक सफर तय किया था।

उस सीजन में कोहली ने 16 मैच में 152.03 के बेहतरीन स्ट्राइक रेट की मदद से सबसे ज्यादा 973 रन बनाते हुए ऑरेंज कैप अपने नाम की। इस दौरान उनके बल्ले से 4 शतक और 7 अर्धशतक निकले थे।

कोहली ने आरसीबी पॉडकास्ट पर बात करते हुए स्वीकार किया कि वो हार अभी भी दर्द देती है। उन्होंने कहा,

फाइनल, मुझे ऐसा लगता है जैसे लिखा गया था कि बैंगलोर में कैसा फाइनल हो सकता है, जब हम उस तरह का सीजन खेलते हैं, और हम 9 ओवर के बाद 100-0 पर खेल रहे थे। आज तक, केएल उस गेम का स्क्रीनशॉट लेता है जब भी वो ब्रॉडकास्ट होता है और कहता है कि यह अभी भी दुख देता है।
यह एक हद तक चोट पहुंचाता है। आपको उस गेम के बारे में हर समय सोचना पड़ता है। हम उस दिन काफी अच्छे नहीं थे। यह एक ऐसा खेल है जहां मुझे लगता है, यह दर्द पहुंचाता है। सभी आईपीएल सीजन से मैं इसका हिस्सा रहा हूं, यह हमारे सामने था।

प्रतियोगिता के फाइनल में आरसीबी को दो करीबी हार का सामना करना पड़ा है। उन्हें दक्षिण अफ्रीका में खेले गए आईपीएल के दूसरे एडिशन के फाइनल में पांच रन से हार का सामना करना पड़ा। 2016 का एडिशन एकमात्र ऐसा समय है जब कोहली ने टूर्नामेंट के आखिरी मैच में टीम की कप्तानी की।

मैं कहूंगा कि हमारे पास मौके थे - विराट कोहली

आरसीबी के पूर्व कप्तान ने खिताब जीतने की बात करते हुए फ्रेंचाइजी की मुश्किलों का विश्लेषण किया। उन्होंने उल्लेख किया कि टीम को ट्रॉफी जीतने के अवसर मिले हैं, लेकिन मुश्किल समय में वह दूसरे स्थान पर रही है।

2016 के बेहतरीन प्रदर्शन के बारे में बात करते हुए कोहली ने कहा,

2016 में, केएल राहुल का करियर ग्राफ बदल गया, और वह इस पर मुझसे सहमत हैं। वह सीजन स्पष्ट रूप से शानदार था, चार लोग बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे थे, टी20 क्रिकेट में ऐसा बहुत कम देखने को मिला है। हालांकि हम सीजन में अच्छा नहीं कर रहे थे, हम इसे बना सकते थे। विश्वास कभी नहीं गया, जो मुझे लगता है कि बनाना बहुत मुश्किल है।

उन्होंने आगे कहा,

कप्तान के रूप में खिताब नहीं जीतना मुझे निराश करता है, मैं कहूंगा कि हमारे पास मौके थे, जहां हम करीब आए। हमें इस बात को स्वीकार करना होगा कि हम नहीं जीते हैं क्योंकि हम उतने साहसी नहीं हैं, या हमारी उस समय प्लानिंग अच्छी नहीं थी आप कह सकते हैं कि उम्मीदों के मामले में हमारे खिलाफ मुश्किलें खड़ी थीं, लेकिन आपको उन उम्मीदों से निपटना होगा।

आरसीबी पिछले कुछ सीजन से प्लेऑफ के आगे नहीं जा पारी है। इस बार बैंगलोर ने मेगा नीलामी से पहले विराट कोहली, ग्लेन मैक्सवेल और मोहम्मद सिराज को रिटेन किया है।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment