हमें विदेशों में भी इसी तरह की निरंतरता बरकरार रखनी होगी: रोहित शर्मा

श्रीलंका को एकदिवसीय श्रृंखला में 2-1 से हराने के बाद भारतीय टीम के कप्तान रोहित शर्मा काफी खुश हैं। नियमित कप्तान विराट कोहली की गैरमौजूदगी में रोहित शर्मा को पहली बार किसी पूर्ण श्रृंखला के लिए कप्तानी सौंपी गई थी और अपनी कप्तानी में पहली सीरीज जीतकर वो काफी खुश नजर आ रहे हैं। भारतीय टीम की एकदिवसीय क्रिकेट में ये लगातार आठवीं सीरीज जीत है। लेकिन इनमें से ज्यादातर सीरीज भारतीय टीम ने घर में ही खेले हैं। इसलिए रोहित शर्मा का मानना है कि भारतीय टीम को ये निरंतरता विदेशों में भी बरकरार रखने की जरुरत है। मैच के बाद उन्होंने कहा कि हमें इसी तरह की निरंतरता बरकरार रखने की जरुरत है। हमें अब विदेशी सरजमीं पर मैच खेलने हैं और डेढ़ साल हमारे लिए काफी चुनौतीपूर्ण रहने वाले हैं और हम इसके लिए तैयार हैं। उन्होंने आगे कहा कि युवा खिलाड़ियों की वजह से टीम में काफी उत्साह आता है और मुझे लगता है कि आगामी चुनौती के लिए वे पूरी तरह से तैयार हैं। रोहित शर्मा ने ये भी कहा कि इस सीरीज से उन्हें पता चला कि असली कप्तानी क्या होती है। उन्होंने कहा कि धर्मशाला में पहला मैच हारने के बाद वापसी काफी शानदार रही। हमने काफी परिपक्कवता दिखाई। टीम की अब ये पहचान बन गई है। जब भी हमें हार मिली हमने उसके बाद जबरदस्त वापसी की। इसे भी पढ़ें: ICC एकदिवसीय रैंकिंग गौरतलब है भारत ने विशाखापट्टनम में खेले गए तीसरे और आखिरी एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय में श्रीलंका को आठ विकेट से हराकर सीरीज पर 2-1 से कब्ज़ा कर लिया। श्रीलंका के 215 रनों के जवाब में भारतीय टीम ने शिखर धवन के शानदार शतक और श्रेयस अय्यर की बेहतरीन अर्धशतकीय पारी की बदौलत 33वें ओवर में सिर्फ दो विकेट खोकर ही लक्ष्य हासिल कर लिया। एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय में यह भारत की लगातार आठवीं और इस साल की लगातार छठी सीरीज जीत है।

Edited by Staff Editor