Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

युवराज सिंह जब आउट हुए, तो भारत ने उम्मीद छोड़ दी थी और मेरा दिल टूट गया था: मोहम्मद कैफ

 युवराज सिंह ने नेटवेस्ट ट्रॉफी के फाइनल में खेली थी महत्वपूर्ण पारी
युवराज सिंह ने नेटवेस्ट ट्रॉफी के फाइनल में खेली थी महत्वपूर्ण पारी
EXPERT COLUMNIST
Modified 21 Apr 2020, 13:24 IST
न्यूज़
Advertisement

भारतीय टीम के दो दिग्गज बल्लेबाज मोहम्मद कैफ और युवराज सिंह हाल ही में इंस्टाग्राम पर लाइव आए और दोनों ने कई मुद्दों पर बात की। इन दोनों 2002 नेटवेस्ट ट्रॉफी फाइनल को लेकर भी अहम खुलासे किए। इन दोनों के बीच हुई ऐतिहासिक साझेदारी के दम पर ही भारत ने इंग्लैंड को हराते हुए इतिहास रचा था। मोहम्मद कैफ इस मुकाबले में प्लेयर ऑफ द मैच रहे थे।

लाइव चैट के दौरान मोहम्मद कैफ ने कहा,

"युवराज सिंह जब आउट हुए, तो मुझे लगा कि यह मैच हमारे हाथ से गया और हम जीत नहीं पाएंगे। हम दोनों ही सेट थे। मुझे लगा कि हम साथ में खेलेंगे, तो भारत जरूर जीतेगी। हालांकि जब तुम आउट हुए, तो इंडिया ने अपनी उम्मीद छोड़ दी और मेरा दिल टूट गया था।

326 रनों का पीछा करने उतरी भारतीय टीम का स्कोर एक समय 146-5 था और टीम मुश्किल में थी। युवी और कैफ के बीच 121 रनों की बेहतरीन साझेदारी हई और टीम को जीत के करीब लेकर गए। 267 के स्कोर पर युवी 69 रन बनाकर आउट हो गए। यहां से भारत के लिए मुश्किल और भी बढ़ गई, लेकिन कैफ ने नाबाद रहते हुए 87 रन बनाए और आखिरी ओवर में टीम को 2 विकेट से यादगार जीत दिलाई ।भारत के मैच जीतने के बाद लॉर्ड्स की बालकनी से अपनी टी-शर्ट को उतारकर हवा में लहराया था।

यह भी पढ़ें: 2007 टी20 वर्ल्ड कप फाइनल जीतने वाली भारतीय प्लेइंग इलेवन अब कहां हैं

युवी और कैफ के बीच और भी मजेदार बातें हुई। इसमें कैफ ने यह भी बताया कि कैसे कमेंट्री करने से उन्हें कोचिंग में काफी मदद मिल रही है। इसके अलावा भारतीय टीम में फील्डिंग में रेवोल्यूशन लाने का श्रेय काफी हद तक युवराज सिंह और मोहम्मद कैफ को ही जाता है।

Published 21 Apr 2020, 13:24 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit