श्रेयस अय्यर की पारी से बेहद निराश हुआ पूर्व भारतीय क्रिकेटर

श्रेयस अय्यर ने वेस्‍टइंडीज के खिलाफ पहले वनडे में 57 गेंदों में 54 रन बनाए थे
श्रेयस अय्यर ने वेस्‍टइंडीज के खिलाफ पहले वनडे में 57 गेंदों में 54 रन बनाए थे

भारतीय टीम (India Cricket team) ने शुक्रवार को वेस्‍टइंडीज (West Indies Cricket team) को पहले वनडे में 3 रन के करीबी अंतर से हराया। भारतीय टीम की तरफ से शिखर धवन (Shikhar Dhawan), शुभमन गिल (Shubman Gill) और श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) ने अर्धशतक जमाए थे। हालांकि, पूर्व भारतीय क्रिकेटर अजय जडेजा (Ajay Jadeja) ने श्रेयस अय्यर की पारी पर निराशा व्‍यक्‍त की है।

श्रेयस अय्यर ने वेस्‍टइंडीज के खिलाफ पहले वनडे में 57 गेंदों में पांच चौके और दो छक्‍के की मदद से 54 रन बनाए थे। जडेजा ने कहा कि अपेक्षाकृत कमजोर गेंदबाजी आक्रमण के सामने बल्‍लेबाज शतक नहीं लगा सका।

पारी के ब्रेक के दौरान फैन कोड से बातचीत में जडेजा ने कहा कि श्रेयस अय्यर ने काफी प्रतिभा दिखाई थी और उन्‍हें भविष्‍य का कप्‍तान माना जा रहा था।

श्रेयस अय्यर की शॉर्ट गेंदों के खिलाफ कमजोरी उजागर हुई और इसके बाद से 27 साल के बल्‍लेबाज को विभिन्‍न प्रारूपों में गेंदबाजों ने परेशान किया। जडेजा ने कहा, 'मुझे उनके लिए महसूस हो रहा है। वो प्रतिभा के साथ भारतीय टीम में आए। एक साल पहले उन्‍हें भारतीय टीम के भविष्‍य का कप्‍तान माना जा रहा था। उन्‍होंने टेस्‍ट करियर की अच्‍छी शुरूआत की और शतक जमाया। अचानक, कई बार वो शॉर्ट गेंद पर आउट हुए और तकनीकी खराबी सामने आई। मगर इस बात ने उनके दिमाग में घर कर दिया और उनकी पारी में इसका असर दिखा।'

अजय जडेजा ने कहा कि अय्यर की पारी में जज्‍बे की कमी खली और उन्‍हें आलोचकों को शांत करने के लिए शतक बनाना चाहिए था।

अजय जडेजा ने कहा, 'जिस तरह उसने पारी आगे बढ़ाई, वो बहुत कुछ शिखर धवन के समान थी। तो आपको समस्‍या से उबरने के लिए बड़े स्‍कोर की जरूरत होती है। मैं कहूंगा कि उनका मैच अच्‍छा था। मगर वो निराश होंगे। इस तरह के गेंदबाजी आक्रमण के सामने आपको पूरे मौके का फायदा उठाना चाहिए। शतक जमाइए और कोई आपको कुछ नहीं कहेगा। इस स्‍कोर के साथ आप यह नहीं कह सकते कि उसकी समस्‍या शॉर्ट गेंद के खिलाफ समाप्‍त हो गई। आप इस मैच को वैसे नहीं ले सकते, जैसे इंग्‍लैंड बनाम भारत लिया था। मेरे हिसाब से यह अभ्‍यास मैच की तरह है।'

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment