Create
Notifications

World Cup 2019: 3 प्रतिभाशाली खिलाड़ी जिन्हें शायद शुरुआती मैचों में खेलने का मौका नहीं मिल सकता है

Enter caption
Neetish Kumar Mishra

दो माह तक टी20 क्रिकेट का मनोरंजन करने के बाद अब दर्शकों का ध्यान वर्ल्ड कप की ओर लगा हुआ है। सभी टीम वर्ल्ड कप खिताब जीतने के इरादे से इंग्लैंड की सरजमीं पर पहुंच चुकी हैं। क्रिकेट के महाकुंभ वर्ल्ड कप की शुरुआत 30 मई से होने वाली है। टूर्नामेंट का आगाज इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के मैच के साथ होगा।

इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया और भारतीय टीम वर्ल्ड कप खिताब जीतने की प्रबल दावेदार मानी जा रही है लेकिन पिछले वर्ल्ड कप की उपविजेता न्यूजीलैंड और दक्षिण अफ्रीका को भी किसी भी मामले में कम नहीं आंका जा सकता है। गौरतलब है कि डेविड वॉर्नर और स्टीव स्मिथ पर बैन लगने के बाद ऑस्ट्रेलिया टीम का प्रदर्शन खराब हो गया था। लेकिन आरोन फिंच की कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया अपना पिछला दोनों वनडे सीरीज जीतकर आई है, जिसके बाद उसके हौसले बुलंद है।

आज हम बात करने जा रहे हैउन 3 प्रतिभाशाली खिलाड़ियों के बारे में जिन्हें शायद शुरुआती मैचों में खेलने का मौका न मिले।

#3. टिम साउदी (न्यूजीलैंड):

Enter caption

कीवी अनुभवी गेंदबाज टिम साउदी पिछले कुछ समय से अच्छा प्रदर्शन नहीं कर रहे हैं। टिम साउदी ने पिछले वर्ल्ड कप में न्यूजीलैंड की ओर से शानदार प्रदर्शन किया था। लेकिन अब वे डेथ ओवरों में उतने प्रभावशाली नहीं दिख रहे हैं जितने कि पहले हुआ करते थे। विशेषज्ञों की मानें तो इस बार का वर्ल्ड कप हाई-स्कोरिंग होगा, ऐसी स्थिति में उनके प्रदर्शन को देखते हुए उन्हें शुरुआती कुछ मैचों से बाहर किया जा सकता है। इनके अलावा टीम में ट्रेंट बोल्ट, लोकी फर्ग्यूसन और मैट हेनरी जैसे गेंदबाज मौजूद हैं जो अच्छी लय में नजर आ रहे हैं।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं।

#2. उस्मान ख्वाजा (ऑस्ट्रेलिया):

Enter caption

डेविड वॉर्नर पर एक साल का बैन लगने के बाद उस्मान ख्वाजा ने वनडे टीम में वापसी की थी। उन्होंने खुद को सलामी बल्लेबाज के रूप में अच्छी तरह से ढाल लिया था और अच्छा प्रदर्शन भी कर रहे थे। लेकिन डेविड वॉर्नर की वापसी के बाद उन्हें मौका मिलना थोड़ा मुश्किल लग रहा है क्योंकि मध्यक्रम में स्टीव स्मिथ और शॉन मार्श जैसे खिलाड़ी भी मौजूद हैं। डेविड वॉर्नर और कप्तान आरोन फिंच की जोड़ी वर्ल्ड कप में ऑस्ट्रेलिया के लिए सलामी जोड़ी होगी। आरोन फिंच ने पाकिस्तान के खिलाफ 5 मैचों की सीरीज में शानदार प्रदर्शन किया था।

उस्मान ख्वाजा के पिछले 10 मैचों में में प्रदर्शन की बात करें तो उन्होंने 65.5 की औसत से 655 रन बनाए हैं। उन्होंने भारत और पाकिस्तान के खिलाफ 5-5 मैचों की सीरीज में हिस्सा लिया था। उनके इस प्रदर्शन के बावजूद भी शायद उन्हें शुरुआती कुछ मैचों में मौका न मिले।

#1. केएल राहुल (भारत):

Enter caption

कर्नाटक के बल्लेबाज केएल राहुल को चयनकर्ताओं ने सलामी बल्लेबाज के विकल्प के तौर पर भारतीय टीम में शामिल किया है। हालांकि कुछ विशेषज्ञ उन्हें चौथे स्थान पर बल्लेबाजी करने के लिए भी बेहतर मान रहे हैं लेकिन मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद के अनुसार विजय शंकर चौथे स्थान पर बल्लेबाजी करने के लिए उनकी पहली पसंद हैं।

वनडे क्रिकेट में केएल राहुल के आंकड़े सलामी बल्लेबाज के रूप में तो बहुत अच्छे हैं लेकिन चौथे स्थान पर बल्लेबाजी करते हुए उनके आंकड़े ठीक नहीं हैं। भारतीय टीम प्रबंधन दोनों अभ्यास मैचों में केएल राहुल को मध्यक्रम में बल्लेबाजी कराके उनकी क्षमता को जरूर परखना चाहेगी। केएल राहुल को भारतीय टीम का अगला सुपरस्टार माना जा रहा है लेकिन वनडे क्रिकेट में वे अपने आपको साबित नहीं कर पाए हैं।

केएल राहुल ने अब तक 14 वनडे मैच खेले हैं जिसकी 43 पारियों में उन्होंने एक शतक और 2 अर्धशतक की मदद से 343 रन बनाए हैं। केएल राहुल को भी प्लेइंग इलेवन में जगह बनाने के लिए संघर्ष करना पड़ सकता है।

Edited by मयंक मेहता

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...