Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

वर्ल्ड कप 2019 : बाउंड्री नहीं एक और सुपर ओवर से होना चाहिए था विश्व कप विजेता का फैसला- सचिन तेंदुलकर

Richa Gupta
ANALYST
न्यूज़
17 Jul 2019, 10:31 IST

वर्ल्ड कप फाइनल मैच के बाद प्रजेंटेशन सेरेमनी के दौरान सचिन तेंदुलकर और केन विलियमसन
वर्ल्ड कप फाइनल मैच के बाद प्रजेंटेशन सेरेमनी के दौरान सचिन तेंदुलकर और केन विलियमसन

इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच हुआ आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 का फाइनल मैच कई घटनाओं को लेकर अपनी एक अलग छाप छोड़ गया है। खराब अंपायरिंग के अलावा सुपर ओवर भी टाई होने पर बाउंड्री के आधार पर मैच विजेता का चयन कई लोगों के गले से नहीं उतरा है। कीवी टीम को उनके यहां का मीडिया एक विजेता के तौर पर ही देख रहा है। ऐसे में क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने कहा कि बाउंड्री के नियम के आधार पर मैच विजेता घोषित करने की बजाए एक और सुपर ओवर होना चाहिए था। इससे मैच का स्वस्थ परिणाम निकलकर आता। 

सचिन तेंदुलकर ने कहा कि मुझे लगता है कि फाइनल जैसे अहम मुकाबले में बाउंड्री पर विचार करने की बजाए एक अन्य सुपर ओवर से विजेता का फैसला करना चाहिए था। ऐसा सिर्फ विश्वकप फाइनल में ही नहीं बल्कि बल्कि सारे महत्वपूर्ण मुकाबलों में होना चाहिए। जिस तरह फुटबॉल में टीमें अतिरिक्त समय में आकर खेलती हैं और पहले का खेल मायने नहीं रखता। ठीक उसी तरह का विकल्प क्रिकेट में भी होना चाहिए। नॉक आउट मुकाबलों को लेकर विश्वकप के प्रारूप में बदलाव पर सचिन ने कहा कि जो दो टीमें शीर्ष पर रहती हैं, उनके लिए जरूर अच्छा प्रदर्शन करने के लिए कुछ होना चाहिए। अब यह देखना दिलचस्प होगा कि भविष्य में आईसीसी सचिन की खास सलाह पर अमल करती है या नहीं। 

इसके अलावा मास्टर ब्लास्टर ने न्यूजीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल मैच में महेंद्र सिंह धोनी को नंबर सात की बजाए नंबर पांच पर भेजने की वकालत की। उन्होंने कहा कि इसमें कोई शक नहीं है कि अगर मैं वहां होता तो धोनी को नंबर पांच पर भेजता। भारत उस वक्त जिस स्थिति में था, तब धोनी पारी को संभाल सकते थे। हार्दिक छठे और कार्तिक सातवें नंबर पर बल्लेबाजी कर सकते थे। 

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं

Tags:
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...