Create
Notifications

"वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में दोनों टीमों को विजेता घोषित करना सही नियम नहीं है"

विराट कोहली और केन विलियमसन
विराट कोहली और केन विलियमसन
सावन गुप्ता
visit

पूर्व क्रिकेटर आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) ने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (World Test Championship) फाइनल के लिए प्रमुख नियम पर सवाल उठाए हैं। दरअसल हाल ही में वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के लिए नया नियम बनाया गया है कि अगर मैच ड्रॉ या टाई हुआ तो फिर दोनों टीमों को संयुक्त रूप से विजेता घोषित किया जाएगा। आकाश चोपड़ा इस नियम को सही नहीं मानते हैं।

आईसीसी ने शुक्रवार को वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के नए नियम का ऐलान किया था। इसके मुताबिक अगर दोनों टीमों के बीच फाइनल मुकाबला ड्रॉ या फिर टाई रहता है तो फिर ऐसी स्थिति में दोनों ही टीमों को विजेता घोषित कर दिया जाएगा। इससे पहले पांच दिनों के अलावा एक रिजर्व डे भी रखा गया था। अगर किसी कारण से प्लेइंग टाइम का नुकसान होता है तो फिर उसकी भरपाई के लिए एक और रिजर्व डे को रखा गया।

ये भी पढ़ें: इंग्लैंड दौरे से पहले विराट कोहली को वर्ल्ड कप विजेता कप्तान ने दी अहम सलाह

आकाश चोपड़ा का नए नियमों को लेकर बयान

अपने यू-ट्यूब चैनल पर बातचीत के दौरान आकाश चोपड़ा ने कहा कि जो टूर्नामेंट दो साल से चल रहा है उसका विनर ना मिलना अच्छी बात नहीं है। उन्होंने कहा,

अगर फाइनल मैच ड्रॉ हो गया तो फिर दोनों ही टीमों को ज्वॉइंट विनर घोषित कर दिया जाएगा। लेकिन ये मेरी समझ से परे है कि अगर दो सालों तक चलने वाले टूर्नामेंट में भी आप चैंपियन टीम नहीं चुन सकते हैं तो फिर ये सही नहीं है। दूसरी चीज ये है कि रिजर्व डे भी रखा गया है लेकिन वो रिजर्व डे तभी प्रयोग होगा जब पांचों दिन के ओवर पूरे नहीं हुए हों। अगर आपको जीत के लिए छह विकेट या 125 रनों की जरूरत है तो फिर उसे छठे रिजर्व डे का प्रयोग नहीं होगा। उसका प्रयोग केवल ओवर्स पूरे करने के लिए होगा।

ये भी पढ़ें: नसीम शाह मामले में पीसीबी ने लिया यूं-टर्न, युवा गेंदबाज को बबल में जाने की इजाजत दी


Edited by सावन गुप्ता
Article image

Go to article

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now