Create
Notifications

युवराज सिंह की छक्कों से भरी तूफानी पारी और जबरदस्त ऑलराउंड प्रदर्शन, अपने जन्मदिन के दिन ही भारत को दिलाई थी यादगार जीत

युवराज सिंह ने गेंद के बाद बल्ले से की छक्कों की बारिश
युवराज सिंह ने गेंद के बाद बल्ले से की छक्कों की बारिश
मयंक मेहता
visit

युवराज सिंह भारतीय टीम के सबसे धुरंधर खिलाड़ियों में से एक रहे हैं। अपने करियर में युवराज सिंह ने काफी कुछ हासिल किया और अपने दम पर वो भारतीय टीम को कई मैच जिता चुके हैं। 2007 टी20 वर्ल्ड कप और 2011 वर्ल्ड कप में उनमें से एक हैं। युवराज सिंह का आज जन्मदिन है और हम उनके द्वारा बर्थडे पर खेली गई यादगार पारी की बात करने वाले हैं जिसने हर भारतीय को झूमने पर मजबूर कर दिया था।

12 दिसंबर 2009 को भारत और श्रीलंका के बीच मोहाली में सीरीज का दूसरा और आखिरी टी20 मुकाबला खेला गया था। भारतीय टीम सीरीज में 0-1 से पीछा था और सीरीज बचाने के लिए भारत के लिए इस मैच में जीत काफी ज्यादा जरूरी थी।

श्रीलंका ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया था और टीम की शुरुआत कुछ खास नहीं रही थी। हालांकि कुमार संगाकारा और सनथ जयसूर्या (31) ने पारी को संभालते हुए स्कोर को 100 के करीब लेकर गए। कुमार संगाकारा ने अपनी टीम के लिए सर्वाधिक स्कोर बनाते हुए 59 रनों की बेहतरीन पारी खेली, तो चिनथका जयासिंघे (38) ने भी अपने कप्तान का अच्छा साथ दिया। हालांकि युवी ने शानदार स्पेल डालते हुए श्रीलंका को बड़े झटके दिए।

युवी ने 3 ओवरों में 23 रन देकर 3 बड़े विकेट लिए। युवराज सिंह ने कुमार संगाकारा, जयसिंघे और चमारा कपूगेदरा को आउट किया। हालांकि अंत में एंजेलो मैथ्यूज (26*) ने तूफानी पारी खेलते हुए श्रीलंका का स्कोर 20 ओवरों में 206-7 तक पहुंचाया और भारत को मुश्किल लक्ष्य दिया।

गेंद के बाद बल्ले से युवराज सिंह ने तूफानी बल्लेबाजी करते हुए भारत को जीत दिलाई

207 रनों का लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत को वीरेंदर सहवाग (64) और गौतम गंभीर (21) ने तेज शुरुआत दिलाई। 108 के स्कोर तक दोनों सलामी बल्लेबाज आउट हो गए थे और भारत को 9 ओवरों में 99 रनों की दरकार थी। इसी स्कोर पर युवराज सिंह की एंट्री हुई और उन्होंने अपने बल्ले का जलवा दिखाया।

युवराज सिंह ने भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (46) के साथ 80 रनें की शानदार साझेदारी करते हुए भारत को जीत के करीब लेकर गए। धोनी जरूर अपने अर्धशतक से चूक गए, लेकिन उन्होंने भारत को अच्छी स्थिति में पहुंचाया। हालांकि युवी ने बीच में अपनी पारी को नहीं छोड़ा और वो भारत को जीत दिलाकर ही वापस लौटे।

युवी ने 25 गेंदों में 3 चौके और 5 छक्कों की मदद से 60* रनों की धुआंधार अर्धशतकीय पारी खेली और आखिरी ओवर की पहली गेंद पर युवराज सिंह ने छक्का लगाते हुए भारत को 6 विकेट से शानदार जीत दिलाई। युवराज सिंह को उनके ऑलराउंड प्रदर्शन के लिए प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया और उनकी इसी पारी की बदौलत भारत ने सीरीज को 1-1 से बराबर कराया।

अपने जन्मदिन के दिन और घरेलू मैदान पर खेली गई युवराज सिंह की पारी बहुत ही ज्यादा खास रही। इस मैच में उन्होंने न सिर्फ शानदार गेंदबाजी की, बल्कि तूफानी बल्लेबाजी भी करके दिखाई। अपने करियर के दौरान युवी ने ऐसी कई पारियां खेली है और यह उनके करियर के यादगार पारियों में से एक हैं।


Edited by मयंक मेहता

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
Article image

Go to article
App download animated image Get the free App now