Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

वर्ल्ड कप 2018, क्वार्टरफाइनल : बेल्जियम से हारा पांच बार का विश्व चैंपियन ब्राजील, उरुग्वे को हराकर फ्रांस सेमीफाइनल में

73   //    07 Jul 2018, 03:01 IST

फीफा वर्ल्ड कप 2018 के हाई वोल्टेज क्वार्टर फाइनल मुकाबले में बेल्जियम ने शुक्रवार को पांच बार के विश्व विजेता ब्राजील को हराकर सोमी फाइनल में जगह बनाई। कजाम एरिना में खेले गए इस मुकाबले मे बेल्जियम ने ब्राजील को 2-1 से हराया। इसके साथ ही खिताब के दावेदारों में शामिल ब्राजील का सफर विश्व कप 2018 मे समाप्त हो गया। मैच की शुरुआत में ही ब्राजील के आत्मघाती गोल से बेल्जियम ने 1-0 की बढ़त बनाई। इसके बाद 31वें मिनट में केविन डी ब्रुइन ने गोल कर बढ़त दोगुनी कर दी। वहीं ब्राजील के लिए एकमात्र गोल 76वें मिनट में ऑगस्तो ने किया।

बेल्जियम 32 साल बाद सेमी फाइनल में पहुंचने में कामयाब रहा। इससे पहले 1986 में क्वार्टर फाइनल मुकाबले में उसे माराडोना की टीम से 0-2 की हार के साथ विश्व कप से बाहर होना पड़ा था। अब सेमी फाइनल में उसकी भिड़ंत फ्रांस से होगी।

इस मुकाबले की शुरुआत से ही बेल्जियम ब्राजील पर हावी रहा। उसने गेंद पर कब्जा जमाने या पास करने में ब्राजील को छकाया। ब्राजील को पहला झटका आत्मघाती गोल के रूप में लगा। बेल्जियम को मिले कॉर्नर पर ब्राजील के खिलाड़ी फर्नांडीन्हों के हाथ में गेंद लगकर उनके ही गोल पोस्ट में समा गई। गोलकीपर एलिसन इसे नहीं रोक पाए। इस गोल के बाद ही ब्राजील पर दबाव दिखने लगा।

दरअसल, विंसेट कंपनी ने केविन डी ब्रुइन के पास गेंद भेजी लेकिन गेंद फर्नांडीन्हों से टकराते हुए गोल पोस्ट में समा गई। यह गोल बेल्जियम को उपहार स्वरूप मिला। पहले हाफ के 31वें मिनट में बेल्जियम ने एक और शानदार गोल कर 2-0 की बढ़त बनाई और ब्राजील को बैकफुट पर धकेल दिया। ब्रुइन ने 31वें मिनट में यह गोल दागा। पहला हाफ बेल्जियम के 2-0 की बढ़त के साथ समाप्त हुआ। दूसरे हाफ में ब्राजील ने वापसी की कोशिश जारी रखी।

मैच के 71वें मिनट में ऑगस्तो ने शानदार हेडर के सहारे गोल कर स्कोर 1-2 कर दिया। हालांकि इसके बाद बेल्जिय के मजबूत रक्षापंक्ति के सामने ब्राजीली खिलाड़ी बेबस नजर आए। उन्होंने इसे भेदने की कोशिश की लेकिन नाकाम रहे। अंत में मैच बेल्जियम के नाम रहा और उसने ब्राजील को रिकॉर्ड छठी बार विश्व चैंपियन बनने से रोका। बेल्जियम के ब्रुइन ने इस मैच के काफी आक्रामक खेल दिखाया।

उरुग्वे को 2-0 से हराकर सेमी फाइनल में पहुंचा फ्रांस

राफेल वरान और एंटोइने ग्रीजमान के उम्दा प्रदर्शन के दम पर फ्रांस ने क्वार्टर फाइनल मुकाबले में उरुग्वे को 2-0 से  शिकस्त दी। इसके साथ ही उसने सेमी फाइनल में प्रवेश कर लिया। वरान ने 40वें मिनट में गोल दागकर फ्रांस को हाफ टाइम तक 1-0 से आगे रखा। दूसरे हाफ के 61वें मिनट में ग्रीजमान ने फ्रांस के लिए गोल कर टीम की बढ़त दोगुनी कर दी। अब सेमी फाइनल मुकाबले में फ्रांस का सामना बेल्जियम से होगा।

उरुग्वे ने इस टूर्नामेंट के सभी मैचों में बेहतरीन प्रदर्शन किया था। हालांकि आज के मैच में फ्रांस की मजबूत रक्षापंक्ति और दमदार आक्रमण के सामने उसकी एक नहीं चली। दोनों टीमों ने शुरू में एक दूसरे पर हावी होने की भरपूर कोशिश की लेकिन फ्रांस इसमें सफल रहा। इसका उसे फायदा भी मिला। मैच के 40वें मिनट में वरान ने हेडर के सहारे गोल दागा। उन्होंने ग्रीजमान की फ्री किक पर यह गोल किया।

दूसरे हाफ की शुरुआत में उरुग्वे ने दबदबा बनाया लेकिन उसके गोलकीपर मुसलेरा की गलती के फ्रांस की बढ़त दोगुनी हो गई। ग्रीजमान तेजी से गेंद लेकर पेनल्टी एरिया में गए और उन्होंने करारा शॉट जमाया। गेंद मुसलेरा के हाथों में टकराई लेकिन वे गेंद को रोकने  में नाकाम रहे। मुसलेरा ने पिछले चार मैचों में केवल एक गोल दिया था। इससे पहले शुरुआती समय में उरुग्वे ने लुकास टोरेइरा और लुई सुआरेज की तेजी की मदद से दबाव बनाने की कोशिश की।

अर्जेंटीना के खिलाफ फ्रांस की जीत के नायक काइलियान एमबापे को बेंजमिन पावर्ड और ओलिवर गिरोड के प्रयासो से बॉक्स के अंदर गेंद मिली। उनके पास गोल करने का बेहतरीन मौका था लेकिन उनके हेडर से लगी गेंद क्रॉस बार के ऊपर से बाहर चली गई। वरान ने इसके बाद फ्रांस को बढ़त दिला दी। हाफ टाइम से पहले उरुग्वे के पास बराबरी का मौका था लेकिन गोलकीपर लोरिस ने बेहतरीन बचाव किया। टोरेइरा के क्रॉस पर मार्टिन कासेरस ने सटीक हेडर लगाया लेकिन गेंद गोल में पहुंच पाती इससे पहले ने उसे रोक लिया।

उरुग्वे को दूसरे हाफ में भी गोल करने का मौका मिला था। हालांकि वे इसमें कामयाब नहीं हुए। हालांकि इसी समय मुसलेरा की गलती से फ्रांस ने दूसरा गोल दागकर उरुग्वे पर दबाव बढ़ा दिया। इस बीच एमबापे और क्रिस्टियन रोड्रिग्ज आपस में भिड़ गेए। इसके कारण उन दोनो को पीला कार्ड दिखाया गया। फ्रांस ने  इसके बाद अपना आक्रामक तेवर छोड़ कर डिफेंस को प्राथमिकता दी। उसने सुनिश्चित किया की उरुग्वे कोई गोल नहीं कर पाए। मैच के 78वें मिनट में कासेरस ने क्रॉस से गेंद बॉक्स में पहुंचाई लेकिन उरुग्वे फिर गोल दागने में नाकाम रहा।

Advertisement
Advertisement
Fetching more content...