Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

वर्ल्ड कप 2018: दावसारी के गोल से सऊदी अरब ने मिस्र को 2-1 से हराया

26 Jun 2018, 03:16 IST

फीफा विश्व कप 2018 के दौरान मिस्र और सऊदी अरब के बीच हुए मुकाबले में स्टार मोहम्मद सालाह का गोल भी मिस्र को हार से नहीं बचा सका। सऊदी ने इस मैच के अंतिम समय में गोल कर 2-1 से जीत दर्ज की। सऊदी अरब ने आखिरी बार फीफा विश्व कप में 1994 में जीत हासिल की थी। उनकी आखिरी विश्व कप जीत 29 जून 1994 को वॉशिंगटन में बेल्जियम के खिलाफ आई थी। उस मैच में सऊदी अरब 1-0 से जीता था।
सालाह ने 22वें मिनट में गोल करके अपनी टीम को 1-0 से बढ़त दिलाई। सालाह ने एक शानदार क्रॉस पास को संभालते हुए सामने से आ रहे गोलकीपर के ऊपर से गेंद निकालकर अपनी टीम को बढ़त दिलाई। इस गोल के साथ पहली बार मिस्र की टीम फीफा विश्व कप के किसी मुकाबले में बढ़त हासिल करके खेलती नजर आ रही थी।
मैच हाफ टाइम की ओर बढ़ रहा था। 41वें मिनट में सऊदी अरब को पेनल्टी मिली। हालांकि सऊदी के फहद अल मुवालद गोल करने में कामयाब नहीं हो सके। इसके चार मिनट बाद ही सऊदी अरब को एक और पेनल्टी मिली। इस बार सलमान अल फराज ने सावधानी से गेंद को गोल पोस्ट में पहुंचाया। इसके साथ ही टीम ने पहला हाफ समाप्त होने तक 1-1 से बराबरी कर ली।
दूसरे हाफ के दौरान स्कोर 1-1 ही रहा और इंजुरी टाइम तक दोनों में से कोई गोल नहीं कर पाया। इंजुरी टाइम के दौरान सलेम अल दावसारी ने एक बेहतरीन गोल के साथ अपनी टीम को जीत दिला दी। यह सऊदी की इस फीफा विश्व कप में पहली जीत है। इससे पहले दोनों मुकाबलों में उसे हार का सामना करना पड़ा था।

उरुग्वे ने मेजबान रूस को 3-0 से रौंदा
दो बार की विश्व विजेता उरुग्वे ने ग्रुप ए के मुकाबले में मेजबान रूस को 3-0 से रौंद दिया। इस जीत के साथ ही उरुग्वे अपन ग्रुप में शीर्ष पर पहुंच गया। विश्व कप इतिहास में यह पहला मौका होगा जब उरुग्वे अपने ग्रुप चरम के तीनों मैच जीतकर नॉकआउट राउंड में प्रवेश कर रहा है। उरुग्वे के लिए पहला गोल लुईस सुआरेज ने किया। दूसरा गोल डेनिस चेरिशेव के नाम रहा जिन्होंने आत्मघाती गोल कर विपक्षी की बढ़त दोगुनी कर दी। तीसरा गोल कवानी ने किया।
मैच की शुरूआत से ही उरुग्वे ने बेहतरीन खेल का प्रदर्शन किया। पहले हाफ के 10वें मिनट में उसके स्टार लुईस सुआरेज ने गोल दागकर टीम को 1-0 की बढ़त दिला दी। फाउल के बाद मिले फ्री किक का फायदा उठाते हुए सुआरेज ने यह गोल दागा। इस दौरान रूस ने मैच में वापसी की भरपूर कोशिशकी लेकिन नाकाम रहा। 23वें मिनट में उरुग्वे के लिए दूसरा गोल डेनिस चेरिशेव ने किया। डिएगो लक्सल्ट के जोरदार शॉट पर रूस के स्टार चेरिशेव के डिफ्लेक्शन पर यह गोल हुआ। यह इस विश्व कप का छठवां आत्मघाती गोल था।
तीसरा और निर्णायक गोल मैच के आखिरी मिनट में हुआ। अपने शुरूआती प्रयासों में विफल रहे कवानी इस बार नहीं चूके। कॉर्नर किक के बाद साथी खिलाड़ी के हेडर से गेंग उनकी ओर रिबाउंड आई। इस मौके को भुनाते हुए उन्होने दमदार शॉट लगाकर टीम को 3-0 की विजयी बढ़त दिला दी। यह लगातार तीसरा मौका है जब उरुग्वे फीफा विश्व कप के नॉकआउट चरम में प्रवेश कर रहा है।

ईरान और पुतार्गाल ने 1-1 से ड्रॉ खेला

सोमवार को खेले गए ईरान और पुर्तगाल के बीच का मुकाबला 1-1 की बराबरी पर समाप्त हुआ। पुतार्गाल इसके साथ ही अगले दौर में पहुंच गया। ग्रुप बी के तहत हुए इस मुकाबले में पुर्तगाल की ओर से क्वारेसमा ने 45वें जबकि ईरान की तरफ से स्थानापन्न खिलाड़ी अनसारीफॉर्ड ने अंतिम समय में बराबरी का गोल दागा।
पहले हाफ के 44 मिनट तक दोनों टीमों के बीच कोई गोल नहीं हुआ। हालांकि 45वें मिनट में पुर्तगाल की ओर से क्वारेसमा ने बेहतरीन गोल कर टीम को 1-0 से आगे कर दिया। इस दौरान पुर्तगाल की टीम ईरान पर हावी रही। पुर्तगाल के पास पहले हाफ में गोल के अन्य मौके भी आए लेकिन वह उसे भुनाने में नाकाम रहा। दूसरे हाफ में भी ईरान की टीम बराबरी का गोल दागने के लिए जूझ रही थी। इंजुरी टाइम के दौरान अनसारीफॉर्ड ने पेनल्टी को गोल में बदलकर ईरान को राहत दिलाई और स्कोर 1-1 से बराबर कर दिया।
ग्रुप बी में स्पेन और पुर्तगाल दोनों के पांच-पांच अंक हो गए हैं। गोल अंतर के साथ हालांकि स्पेन शीर्ष पर कब्जा जमाए हुए है। दूसरे नंबर पर पुर्तगाल है। चार अंकों के साथ ईरान तीसरे नंबर पर है। वहीं मोरक्को एक अंक के साथ चौथे स्थान पर मौजूद है। अपने पहले मैच में स्पेन के खिलाफ हैट्रिक गोल दागने वाले रोनाल्डो इस मैच में कमाल नहीं दिखा सके। इस मुकाबले में वह लियोनल मेस्सी की तरह पेनल्टी गोल करने से चूके। इसका नतीजा रहा कि पुर्तगाल को यह मैच 1-1 से ड्रॉ खेलना पड़ा।

स्पेन ने मोरक्को को 2-2 से ड्रॉ पर रोका
ग्रुप बी के एक अन्य मुकाबले में स्पेन और मोरक्को ने 2-2 से ड्रॉ खेला। मैच लंबे समय तक 1-1 की बराबरी पर चल रहा था। तभी 81वें मिनट में मोरक्को के युसेफ एन-नेसारी ने गोल दागकर टीम को 2-1 से आगे कर दिया। हालांकि अभी एक ट्वीस्ट बाकी था। इंजुरी टाइम के दौरान स्पेन ने गोल दागकर मैच को 2-2 की बराबरी पर समाप्त किया। हालांकि इस नतीजे के बाद स्पेन अगले दौर में पहुंच गया है।
मैच शुरू होने के 14वें मिनट में ही मोरक्को के खालिद बोउतेब ने गोल दागा और टीम को 1-0 से आगे कर दिया। स्पेन के लिए यह गोल किसी सदमे से कम नहीं था। हालांकि उसके स्टार इस्को ने अगले पांच मिनट के भीतर ही बराबरी का गोल किया। एक तरफ जहां स्पेन के डिफेंडर मोरक्को को रोकने में लगे थे वहीं मोरक्को लगातार उनके डिफेंस लाइन को भेदने में कामयाब हो रहा था। हालांकि इसके बाद भी वह गोल करने में विफल रहा।
मैच अंतिम 10 मिनटों में प्रवेश कर चुका था, तभी 81वें मिनट में फजार ने एक पास दिया जिस पर एन-नेसारी ने बाएं कॉर्नर से शानदार हेडर के जरिए गोल टीम को 2-1 से आगे कर दिया। इसके बाद स्पेन की तरफ से इंजुरी टाइम में इयागो अस्पास ने कावार्याल के पास को गोल में बदलकर टीम को हार से बचा लिया।

Advertisement
Advertisement
Fetching more content...