COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

ISL 2018-19:  दिल्ली को 2-1 से हराकर जमशेदपुर शीर्ष चार में शामिल

न्यूज़
46   //    13 Dec 2018, 22:18 IST

Enter caption
Enter caption

जमशेदपुर एफसी ने बुधवार को जेआरडी टाटा स्पोटर्स कॉम्पलेक्स स्टेडियम में खेले गए आईएसएल के अहम मुकाबले में दिल्ली डायनामोज को 2-1 से शिकस्त दी। इस जीत के साथ ही उसने पांचवें सीजन की अंक तालिका के शीर्ष चार में जगह बना ली है। जमशेदपुर के लिए टिम काहि ने 29वें और फारुख चौधरी ने 61 मिनट में गोल दागा। वहीं दिल्ली के लिए लालियानजुआला चांग्ते ने 24वें मिनट में एकमात्र गोल किया।

जमशेदपुर के 12 मैचों में 19 अंक हो गए हैं। वह एफसी गोवा को पीछे छोड़ते हुए 17 अंकों के साथ शीर्ष चार में पहुंच गया है। दिल्ली की यह 11 मैचों में सातवीं हार है। यह टीम चार अंकों के साथ अंतिम स्थान पर है। पहली जीत की तलाश में उतरी दिल्ली की टीम ने मैच के शुरुआत में ही कुछ हमले किए। उसके खिलाड़ियों ने दूसरे, तीसरे और सातवें मिनट में मौके बनाए लेकिन गोल नहीं हो पाया। सातवें मिनट में तो चांग्ते गोल के काफी करीब तक पहुंच गए थे। इस बीच नौवें मिनट में रेने मिहेलिक को पीला कार्ड दिखाया गया।

मेजबान ने मैच के 20वें मिनट में मैच का पहला बड़ा मौका बनाया। हालांकि दिल्ली के बेहतरीन डिफेंस के आगे उसकी एक नहीं चली। चांग्ते ने हमलों के इस दौर में 24वें मिनट में गोल दाग कर दिल्ली को 1-0 से आगे कर दिया। इस गोल में नारायण दास और रेने मिहेलिक की भूमिका अहम रही। चांग्ते ने वॉली की मदद से इस सीजन का चौथा गोल दागा। हालांकि यह बढ़त ज्यादा देर तक नहीं टिकी औऱ 29वें मिनट में टिम काहिल ने हेडर के जरिए गोल कर जमशेदपुुर को 1-1 की बराबरी दिला दी।

दूसरे हाफ की शुरुआत में ही दिल्ली ने टीम में बदलाव किए। राना घिरामी को बाहर भेजकर नंदकुमार सेकर को मैदान पर बुलाया गया। दिल्ली ने मैच के 55वें मिनट में गोल का बेहतरीन मौका बनाया लेकिन उसे भुना नहीं सके। 61वे मिनट में फारुख चौधरी ने मौके का फायदा उठाते हुए गोल दागकर टीम की बढ़त दोगुनी कर दी। यही स्कोर मैच में निर्णायक साबित हुआ।

Advertisement
Topics you might be interested in:
ANALYST
संदीप भूषण राष्ट्रीय अखबार जनसत्ता में खेल पत्रकार के तौर पर कार्यरत हैं। इससे पहले वह दैनिक जागरण में भी काम कर चुके हैं। इनके क्रिकेट और हॉकी के साथ ही कबड्डी, फुटबॉल और कुश्ती से जुडे कई लेख राष्ट्रीय अखबारों में छप चुके हैं।
Advertisement
Fetching more content...