Create
Notifications

ISL 2016: 5 खिलाड़ी जो हीरो ऑफ़ द लीग अवार्ड की दौड़ में हैं

जितेंद्र तिवारी
visit

हीरो इंडियन सुपर लीग अपने तीसरे सीजन के दूसरे पड़ाव में हैं। मुंबई सिटी एफसी, केरला ब्लास्टर, दिल्ली डायनामोस और एटलेटिको सेमीफाइनल में हैं। जहां कोलकाता एक मात्र टीम ऐसी है, जो तीसरी बार नॉकआउट स्टेज में पहुंची है। वहीं मुंबई प्लेऑफ में पहली बार पहुंची है। दिल्ली डायनामोस ने अपने पिछले प्रदर्शन को दोहराते हुए इस सीजन में भी क्वालीफाई किया है। वहीं केरला ब्लास्टर भी दूसरी बार अंतिम चार में जगह बनाने में कामयाब हुई है। प्लेऑफ के मुकाबले 10 दिसम्बर से शुरू होने वाले हैं, ऐसे में लोग इस सीजन के सबसे बेहतरीन खिलाड़ी के बारे में चर्चा करने लगे हैं। आइये हम भी डालते हैं एक नजर:

जावी लारा

कोलकाता के विंगर ने लगातार तीसरी बार टीम को सेमीफाइनल में पहुँचाने में अहम योगदान दिया है। लारा ने टीम को डिफेन्स में अपनी भूमिका से मजबूती प्रदान की है। स्पेन के इस खिलाड़ी ने तीन गोल दागे हैं। टीम की जरूरत के हिसाब से अपना योगदान भी दिया है। जावी लारा का स्ट्राइकर इयान हमे, हेल्डर पोस्टिगा और जुआन बेलेंकोसो के साथ बेहतर तालमेल है। इसके अलावा अपने साथी विंगर समीघ डौती के साथ मिलकर डिफेंस की भी मदद करते हैं। लारा ने 27 शॉट्स गोल की तरफ मारे हैं, जिसमें 20 सफल हुए हैं। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि वह कितने खतरनाक खिलाड़ी हैं। लारा ने इस पूरे सीजन के सभी मुकाबले खेले हैं। साथ ही इस बार टीम को खिताबी जीत दिलाने में अहम भूमिका भी निभा सकते हैं। सेड्रिक हेन्गबर्ट पिछले तीन सीजन में सेड्रिक ने लीग में जो खासियत दिखाई है, उसे फैन भी खूब पसंद करते हैं। वह कभी हार नहीं मानते हैं।पहले सीजन में वह केरला की तरफ से खेले थे। उसके बाद नार्थईस्ट में चले गये थे। उसके बाद वह एक बार केरला के साथ हैं। पहले सीजन में केरला फाइनल में पहुंचा था, लेकिन दूसरे सीजन में टीम अंतिम स्थान पर थी। ऐसे में हेन्गबर्ट की वापसी से टीम का मनोबल बढ़ा है। ऐसा उन्होंने अंतिम चार पहुंचकर दिखा भी दिया है। अरोन हग और सन्देश झिंगन ने इस बार 15 गोल किये हैं। जबकि साल 2015 में उनके 12 गोल ही थे। वहीं हेन्गबर्ट ने 30 टैकल, 31 एरियल डुएल्स और 25 इंटरसेपशन करके विपक्षी टीम पर भारी पड़े हैं। फ़्रांस के इस खिलाड़ी ने आईएसएल में अबतक 39 मुकाबले खेल चुका है। इस खिलाड़ी के नाम साल 2014 में 101 क्लीयरेंस और 49 टैकल दर्ज हैं। ऐसे में उनके अनुभव का इस्तेमाल केरला जरुर करना चाहेगा।

लुसियन गोइअन

मुंबई सिटी एफसी आईएसएल में कभी भी प्लेऑफ में क्वालीफाई नहीं कर पायी है। लेकिन इस बार टीम एलेक्जेंडर गुइमारेस के बेहतरीन प्रदर्शन के दम पर प्लेऑफ में जगह बनाने में कामयाब हुई है। पहले सीजन में टीम ने 21 और दूसरे में 26 गोल किये थे। इस सीजन में टीम ने पिछले सीजन के मुकाबले 8 गोल ज्यादा किये हैं और इस पूरी प्रक्रिया में डिफेंडर लुसियन गोइअन ने कमाल का खेल दिखाया है। 14 मैचों में 67 टैकल, 25 एरियल डुएल्स और 31 इंटरसेपशन किये हैं। यही नहीं वह इस सीजन के बेहतरीन डिफेंडर भी हैं। इस डिफेंडर की वजह से भारतीय डिफेंडर अनवर अली और सेना राल्टे को काफी फायदा हुआ है। इसी वजह से मुंबई को हराना सबके लिए कठिन काम बन गया है। डीगो फोरलन साल 2010 के वर्ल्डकप में गोल्डन बॉल जीतने वाले डीगो फोरलन का इस लिस्ट में होना काफी अहम हो जाता है। उन्होंने मुंबई के आक्रमण को मजबूती प्रदान की है। उरुग्वे के इस खिलाड़ी ने इंडियन सुपर लीग में आलराउंड प्रदर्शन किया है। फोरलन मुंबई के लिए हर मैच नहीं खेल पाए हैं। लेकिन जिस मुकाबले में खेले हैं। वहां उन्होंने अपना पैसा अदा कर दिया है। मेनचेस्टर के पूर्व खिलाड़ी ने केरला ब्लास्टर के खिलाफ पहली हैट्रिक बनाई थी। जहां मुंबई ने 5-0 का अंतर बना लिया था। फोरलन ने सब मिलाकर 249 पासेज बनाये थे। इसके अलावा उन्होंने 5 गोल दागे हैं और 2 में मददगार रहे हैं। भारतीय कप्तान सुनील छेत्री और मटिअस डेफेडेरिको के साथ मिलकर फोरलन टीम को काफी संतुलन प्रदान करते हैं। मर्सलिन्हो जिसने भी आईएसएल के सभी सीजन को फॉलो किया होगा उसे पता होगा कि मर्सलिन्हो किस प्रकार के खिलाड़ी हैं। वह अपने प्रदर्शन सबको प्रभावित करते हैं। इयान हमे, जॉन स्टीवेन मेंडोज़ा और मर्सलिन्हों ऐसे खिलाड़ी रहे हैं। जिन्होंने आईएसएल में सबको प्रभावित किया है। मर्सलिन्हो खेल में रफ्तार डालने का काम करते हैं। दिल्ली डायनामोस के आक्रमण को मजबूती देते हुए उन्होंने 9 गोल दागे हैं और 13 में मददगार रहे हैं। इस ब्राजीली खिलाड़ी ने जियनलुका जैम्बरोटा की टीम को 14 मैचों में 27 गोल करने में काफी मदद की है। उन्होंने इस बार लीग में एफसी गोवा के खिलाफ बेहतरीन हैट्रिक भी बनाई है। 262 पासेज और टारगेट पर उन्होंने 22 शॉट भी मारे हैं। प्लेऑफ में उनके कोच को उनसे काफी उम्मीदें हैं। क्योंकि अंतिम चार मुकाबलों में उनका प्रदर्शन टीम को चैंपियन बना सकता है।

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now