Create
Notifications

जापान ने विश्‍व कप क्‍वालीफाइंग रिकॉर्ड बनाया, मंगोलिया को 14-0 से रौंदा

जापान ने मंगोलिया को 14-0 से रौंदा
जापान ने मंगोलिया को 14-0 से रौंदा
Vivek Goel

जापान ने मंगलवार को विश्‍व कप क्‍वालीफाइंग मैच में मंगोलिया को 14-0 से रौंदकर रिकॉर्ड बना दिया। जापान की टीम ने पहले हाफ में पांच गोल जबकि दूसरे हाफ में 9 गोल दागे। जापान की टीम ग्रुप एफ में पांच मैचों में 15 अंक लेकर शीर्ष पर चल रही है। जून में म्यांमा पर जीत से जापान ग्रुप में शीर्ष स्थान के साथ एशियाई क्वालीफाइंग के तीसरे दौर में एक स्थान सुनिश्चित कर लेगा। जापान के लिये ताकुमी मिनामिनो, युया ओसाको, दाईची कामाडा और हिडेमासा मोरिता ने पहले हाफ में गोल किये जबकि एक आत्मघाती गोल मंगोलिया के डिफेंडर खाश-अर्डेने टुयाया ने किया।

ओसाको ने इसके बाद गोल की हैट्रिक की जबकि शो इनागाकी, जुनया इतो और कयोगो फुरूहाशी ने दो दो गोल दागे। ताकुमा असानो ने भी एक गोल किया।

मंगलावार को ही सऊदी अरब का सामना एशियाई क्षेत्र के एक अन्य क्वालीफाइंग मैच में फलस्तीन से होगा। जापान की टीम लगातार सातवीं बार विश्‍व कप में जगह पक्‍की करने के इरादे से मैच खेल रही है। उसने कोरोना वायरस महामारी के कारण नवंबर 2019 के बाद से कोई क्‍वालीफायर मैच नहीं खेला। मंगोलिया इस मुकाबले में मेजबान देश था और वायरस पाबंदियों के कारण यह मुकाबला बंद दरवाजों के पीछे खेला गया। जापान ने लगातार पांच मैचों में पांच जीत दर्ज की। इस दौरान जापान ने 26 गोल दागे जबकि एक भी नहीं झेला।

जापान इतिहास की दूसरी सबसे बड़ी जीत

यह जापान फुटबॉल इतिहास की दूसरी सबसे जीत है। वर्डर ब्रेमैन स्‍ट्राइकर युया ओसाको ने हैट्रिक जमाई जबकि लिवरपुल के मिडफील्‍डर तकुमी मिनामिनो ने भी गोल दागे। विश्‍व रैंकिंग में 190वें स्‍थान पर काबिज मंगोलिया ने निशाने पर केवल दो ही निशाने मारे। वहीं जापान ने 34 निशाने गोल पर लगाए। यह जापान की दूसरी सबसे बड़ी जीत है। इससे पहले 1967 में फिलिपिंस को जापान ने 15-0 से मात दी थी। अब जापान का 3 जून को म्‍यामांर से सामने उतरना है।

जापान ने हाफ टाइम में पांच गोल दागे थे जबकि दूसरे हाफ में उसने 9 गोल किए। जापान ने दूसरे हाफ के शुरूआती 11 मिनट में ही चार गोल कर दिए थे।

वैसे यह विश्‍व कप क्‍वालीफायर में बड़ी जीत दर्ज करने का पहला मामला नहीं है। इससे पहले कनाडा ने सोमवार को कैमैन आइलैंड को 11-0 से रौंदा था।


Edited by Vivek Goel

Comments

Fetching more content...