इस साल भारतीय महिला लीग की मेजबानी करेगा ओडिशा

आईडब्‍ल्‍यूएल
आईडब्‍ल्‍यूएल

अखिल भारतीय फुटबॉल संघ (एआईएफएफ) ने रविवार को कहा कि हीरो इंडियन महिलाओं की लीग 2020-2021 की मेजबानी ओडिशा करेगा। फुटबॉल ईकाई ने कहा कि इस टूर्नामेंट के कार्यक्रम की तारीखें तय होना बाकी है और जल्‍द ही इसकी घोषणा की जाएगी। एआईएफएफ अध्‍यक्ष प्रफुल पटेल ने इवेंट आयोजित कराने पर सहमति जताने के लिए ओडिशा सरकार का शुक्रिया अदा किया। पटेल ने अपने बयान में कहा, 'ओडिशा सरकार भारतीय फुटबॉल की बड़ी समर्थक रही है। हम श्री नवीन पटनायक जी, श्री विशाल कुमार देव, श्री विनील कृष्ण और ओडिशा के पूरे खेल विभाग के शुक्रगुजार हैं। उन्होंने हीरो इंडियन वुमन लीग को आयोजित कराने के लिए अपना पूरा सहयोग और मदद की है। पिछले वर्षों में टूर्नामेंट ने बहुत सारी नवोदित महिला फुटबॉलरों को अपनी प्रतिभा दिखाने और उन्हें फुटबॉल को करियर के रूप में चुनने का विकल्प प्रदान करने के लिए मंच दिया है।'

एआईएफएफ ने आगे कहा कि वह देश में महिलाओं के फुटबॉल विकास के प्रति समर्पित रहेगा। भारत को 2022 में एएफसी महिलाओं के एशिया कप की मेजबानी करना है, जिसके बाद 2022 में फीफा अंडर-17 महिला विश्‍व कप होगा। महिलाओं की राष्‍ट्रीय टीम के लिए नई प्रतिभा तलाशने के लिए एआईएफएफ इस समय का उपयोग करना चाहता है।

ओडिशा महिला फुटबॉल का पर्याय

ओडिशा के खेलमंत्री तुषार कांति बहेरा ने कहा, 'टूर्नामेंट की मेजबानी करने का उनका प्रयास राज्य में महिला फुटबॉल को बढ़ावा देने की दिशा में एक और कदम है। भारत में खेल का समग्र विकास और विशेष रूप से भारतीय फुटबॉल पर ओडिशा का खेल लक्ष्य है। ओडिशा लंबे समय से भारत में महिला फुटबॉल का पर्याय रहा है। मैं महिला सशक्तीकरण का प्रबल समर्थक हूं। अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ के साथ ओडिशा में इंडियन वुमन्स लीग की मेजबानी हमें देश में महिला फुटबॉल के विकास में योगदान करने का अवसर प्रदान करेगी। महिला खिलाड़ी भारत को बहुत गौरवान्वित कर रही हैं।'

ओडिशा के प्रमुख सचिव खेल और युवा सेवाएं विभाग विशाल कुमार देव ने कहा, 'भारतीय महिलाओं की लीग के 2020-21 एडिशन की मेजबानी करना ओडिशा खेल के खाते में एक और उपलब्धि जोड़ेगे। माननीय मुख्‍यमंत्री नवीन पटनायक के नेतृत्‍व में ओडिशा हमारे देश का सबसे बड़ा खेल गढ बन रहा है। मुझे उम्‍मीद है कि आईडब्‍ल्‍यूएल राज्‍य के फुटबॉल फैंस के बीच जबर्दस्‍त उत्‍साह भरेगा।'

Edited by Vivek Goel