EURO 2016: मेज़बान फ्रांस को हराकर पुर्तगाल ने जीता खिताब

यूरोप को पुर्तगाल के रूप में नया फुटबॉल चैंपियन मिल गया है। रविवार देर रात यूरो कप के फाइनल मुकाबले में क्रिस्टियानो रोनाल्डो की टीम पुर्तगाल ने मेजबान फ्रांस को 1-0 से हराकर इतिहास रचा। पुर्तगाल की ओर से एक्सट्रा टाइम(119वें मिनट) में सबस्टिट्यूट खिलाड़ी एडेर ने गोल कर अपनी टीम को खिताब दिलाया। ये पहला मौका है, जब पुर्तगाल की टीम कोई बड़ी ट्रॉफी जीतने में कामयाब रही है। इस जीत के साथ ही क्रिस्टियानो रोनाल्डो का पुर्तगाल के लिए बड़ी ट्रॉफी जीतने का सपना पूरा हुआ। मैच में फुल टाइम तक दोनों ही टीमें गोल करने में नाकाम रही, पहला हाफ और दूसरा हाफ गोलरहित रहा। उसके बाद मैच एक्सट्रा टाइम में चला गया, जहां एडेर ने गोल कर पुर्तगाल को पहला बड़ा खिताब दिलाया। मैच में फ्रांस की टीम ने गोल करने की कई कोशिशें की, लेकिन वो नाकाम रहे। पूरे यूरो में शानदार प्रदर्शन करती आई फ्रांस की टीम को फाइनल में अपने घर में हार का सामना करना पड़ा। मैच शुरु होने के 7वें मिनट में ही पुर्तगाल के स्टार स्ट्राइकर रोनाल्डो को चोट लग गई थी, लेकिन उन्होेंने फिर भी खेलना जारी रखा। मैच के 25वें मिनट में रोनाल्डो को मैदान से जाना पड़ा, उनकी जगह रिकार्डो कुरेजमा को मैदान पर उतारा गया। पुर्तगाल औऱ दुनिया के सबसे बेहतरीन खिलाड़ियों में शुमार रोनाल्डो के जाने के बाद पुर्तगाल की उम्मीदों को धक्का लगा। लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और एक्सट्रा टाइम में एडेर के गोल की मदद से जीत हासिल की। इस खिताबी जीत के साथ ही पुर्तगाल ने साल 2004 में अपने घर पर यूरो फाइनल में मिली हार का हिसाब पूरा किया। 2004 के यूरो फाइनल में मेजबान को ग्रीस ने 0-1 से हराया था। मेजबान फ्रांस ने मैच में अपना पूरा दमखम लगा दिया था। यूरो 2016 में सबसे ज्यादा गोल करने वाले एंटन ग्रीजमैन ने कई बार गोल करने की कोशिश की, लेकिन कामयाब नहीं हो पाए। मैच के दौरान बॉल पर ज्यादातर समय फ्रांस का ही नियंत्रण था। मैच के कड़े होने का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि फाइनल में पुर्तगाल को 6 और फ्रांस को 4 यैलो कार्ड मिले। किसी बड़े टूर्नामेंट में ये फ्रांस और पुर्तगाल का चौथी बार आमना सामना हुआ था। इससे पहले फ्रांस ने तीनों मौकों पर जीत हासिल की थी।

App download animated image Get the free App now