Create

डुरंड कप की ट्रॉफी लेने के दौरान पश्चिम बंगाल के राज्यपाल ने सुनील छेत्री को दिया धक्का, फैंस का फूटा गुस्सा

सुनील छेत्री के साथ हुए व्यवहार के बाद से फैंस काफी नाराज हैं।
सुनील छेत्री के साथ हुए व्यवहार के बाद से फैंस काफी नाराज हैं।
Hemlata Pandey

रविवार को एशिया की सबसे पुरानी फुटबॉल लीग डुरंड कप के फाइनल में बेंगलुरु एफसी ने मुंबई सिटी एफसी को 2-1 से हराकर पहली बार खिताब जीता। क्लब के कप्तान सुनील छेत्री, जो भारतीय टीम के भी कप्तान हैं, ने इसके साथ ही अपने करियर में देश की सभी प्रतिष्ठित फुटबॉल ट्रॉफियों को जीत लिया।

I don't even know who is this man wearing white and white. but every single child in india knows who's that legend wearing the blue jersey . Icon of india. When these politicians are gonna respect football and legends. This is not a photo session dear politician . #SunilChhetri https://t.co/xFf4wHXfNB

फैंस क्लब और कप्तान के लिए खुश थे। लेकिन एक वाकये ने पूरे देश के फुटबॉल और खेल प्रेमियों को खासा निराश किया है। मैच की ट्रॉफी प्रेजेंटेशन के दौरान पश्चिम बंगाल के राज्यापाल गणेशन अय्यर ने फोटो खिंचवाने के चक्कर में सुनील छेत्री का हाथ ट्रॉफी से दूर किया और ये बात फैंस को बिलकुल पसंद नहीं आ रही।

#SunilChhetriWhat a shameful behavior by west bengal governor La GanesanBut look at Sunil ji..how humble he is🙌🏻 https://t.co/mbSXGEZ58M

दरअसल सुनील छेत्री डुरंड कप की विजेता ट्रॉफी लेने स्टेज पर पहुंचे और इसे थामा। जैसा कि देश में लगभग हर प्रतियोगिता में होता है, यहां भी राजनेता और उच्च पदों पर आसीन व्यक्ति, जिनका खेलों से कोई सरोकार नहीं है, विजेताओं को सम्मानित करने पहुंचे थे। सुनील के साथ ही मणिपुर के राज्यपाल एलए गणेशन, वर्तमान में पश्चिम बंगाल के राज्यपाल ने भी ट्रॉफी को पकड़ा हुआ था। ऐसे में जब राज्यपाल महोदय को लगा कि उनकी तस्वीर सही से नहीं आ रही तो उन्होंने खुद को आगे लाने की कोशिश में सुनील छेत्री को धक्का दिया और ये हरकर कैमरे में कैद हो गई।

When will we learn to respect the sports legends? #SunilChhetri twitter.com/AskAnshul/stat…

अब ये क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है और फैंस इस हरकत की निंदा कर रहे हैं। एक फैन ने सवाल पूछा कि हम कब अपने खेलों के महान खिलाड़ियों की इज्जत करना सीखेंगे, तो दूसरे ने लिखा कि राज्यपाल को सुनील छेत्री के साथ किए गए बर्ताव के लिए माफी मांगनी चाहिए।

He owes an apology to Sunil Chhetri and Indian football 😡#IndianFootball #IFTWChttps://t.co/AnbxybeoG3

एक फैन ने तो माना कि सुनील छेत्री को वही करना चाहिए था जो साल 2006 में ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम ने शरद पवार के साथ किया था। उस समय ICC चैंपियंस ट्रॉफी जीतने पर तत्कालीन BCCI अध्यक्ष शरद पवार ने विजेता टीम ऑस्ट्रेलिया को ट्रॉफी दी थी, लेकिन पवार वहीं खड़े हो गए और ऐसे में टीम के तत्कालीन कप्तान रिकी पोंटिंग ने शरद पवार को हल्का धक्का दिया ताकि टीम विजय का सेलिब्रेशन कर सके और फोटो खिंचा सके।

उस समय तो पोंटिंग की हरकत की कई लोगों ने निंदा की थी, लेकिन आज सुनील छेत्री के साथ हुए वाकये के बाद देश के कई फुटबॉल प्रेमी पोंटिंग को सही बता रहे हैं। कई फैंस राज्यपाल महोदय की हरकत पर चुटकी लेकर ये भी लिख रहे हैं कि ये डुरंड कप उन्होंने ही जीता है।

Sunil Chhetri helping the family members of his teammates get chairs and water bottles after the FT whistle ❤️Captain Leader Legend - for a reason!#DurandCup2022 | #IndianFootball ⚽️ https://t.co/fOpnK85ihv

फैंस इस पूरे वाकये में सुनील की जमकर तारीफ कर रहे हैं जिन्होंने न सिर्फ खुद का संयम बनाए रखा बल्कि इससे पहले एक वीडियो में अपनी टीम के साथियों के परिवार के सदस्यों के लिए खुद चेयर लगाते और पानी देते दिख रहे हैं।


Edited by Prashant Kumar

Comments

comments icon
Fetching more content...