सोते समय पैरों में ऐंठन होने के कारण और उपचार

सोते समय पैरों में ऐठन होने के कारण और उपचार (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
सोते समय पैरों में ऐंठन होने के कारण और उपचार (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

पैर में ऐंठन, जिसे रात में पैर में ऐंठन भी कहा जाता है, अनैच्छिक मांसपेशी संकुचन है जो नींद के दौरान होता है। ये ऐंठन गंभीर दर्द और परेशानी का कारण बन सकती है, जिससे अक्सर प्रभावित व्यक्ति नींद से जाग जाता है। हालाँकि नींद के दौरान पैरों में ऐंठन के सटीक कारणों को पूरी तरह से समझा नहीं जा सका है, लेकिन माना जाता है कि ऐसे कई कारक हैं जो इसकी घटना में योगदान करते हैं।

सोते समय पैरों में ऐंठन होने के कारण और उपचार (10 Causes and Treatment Of Leg Cramps While Sleeping In Hindi)

निर्जलीकरण: अपर्याप्त तरल पदार्थ के सेवन से निर्जलीकरण हो सकता है, जिससे पैर में ऐंठन होने की संभावना बढ़ सकती है। पूरे दिन हाइड्रेटेड रहने से नींद के दौरान ऐंठन को रोकने में मदद मिल सकती है।

इलेक्ट्रोलाइट असंतुलन: पोटेशियम, मैग्नीशियम और कैल्शियम जैसे महत्वपूर्ण इलेक्ट्रोलाइट्स का निम्न स्तर पैर में ऐंठन पैदा कर सकता है। ये खनिज मांसपेशियों के कार्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, और असंतुलन मांसपेशियों के सामान्य संकुचन और विश्राम को बाधित कर सकता है।

अत्यधिक परिश्रम और मांसपेशियों की थकान: तीव्र शारीरिक गतिविधि या लंबे समय तक खड़े रहने या चलने से पैर की मांसपेशियों में खिंचाव हो सकता है, जिससे नींद के दौरान ऐंठन हो सकती है। व्यायाम के बाद आराम करना और मांसपेशियों की उचित रिकवरी ऐंठन को रोकने में महत्वपूर्ण है।

तंत्रिका संपीड़न: कुछ स्थितियाँ, जैसे कटिस्नायुशूल या काठ का रीढ़ की हड्डी का स्टेनोसिस, पीठ के निचले हिस्से और पैरों में नसों को संकुचित कर सकती हैं। यह संपीड़न नींद के दौरान मांसपेशियों में ऐंठन पैदा कर सकता है। सोते समय पैर की ऐंठन के उपचार में निवारक उपाय और तत्काल राहत रणनीतियाँ दोनों शामिल हैं।

स्ट्रेचिंग व्यायाम: सोने से पहले पिंडली की मांसपेशियों की हल्की स्ट्रेचिंग से ऐंठन को रोकने में मदद मिल सकती है। नियमित स्ट्रेचिंग से मांसपेशियों के लचीलेपन में सुधार हो सकता है और ऐंठन की आवृत्ति कम हो सकती है।

जलयोजन: पूरे दिन पर्याप्त मात्रा में पानी पीने से उचित जलयोजन स्तर बनाए रखने से पैर में ऐंठन की संभावना कम हो सकती है।

इलेक्ट्रोलाइट अनुपूरण: यदि इलेक्ट्रोलाइट असंतुलन का संदेह है, तो पोटेशियम, मैग्नीशियम और कैल्शियम से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन बढ़ाना, या चिकित्सा मार्गदर्शन के तहत पूरक लेना, पैर की ऐंठन को कम करने में मदद कर सकता है।

गर्म स्नान या हीटिंग पैड: प्रभावित क्षेत्र पर गर्मी लगाने से मांसपेशियों को आराम मिल सकता है और ऐंठन से राहत मिल सकती है।

दवाएँ: गंभीर मामलों में, एक स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर पैर की ऐंठन को प्रबंधित करने के लिए मांसपेशियों को आराम देने वाली या दर्द निवारक दवाएँ लिख सकता है।

अंतर्निहित स्थितियों को संबोधित करना: यदि पैर में ऐंठन बनी रहती है या अन्य लक्षणों के साथ होती है, तो ऐंठन में योगदान देने वाली किसी भी अंतर्निहित स्थिति की पहचान करने और उसका इलाज करने के लिए स्वास्थ्य सेवा प्रदाता से परामर्श करना महत्वपूर्ण है।

जबकि कभी-कभी पैर में ऐंठन आम है और आमतौर पर हानिरहित होती है, लगातार या गंभीर ऐंठन के लिए चिकित्सकीय ध्यान देने की आवश्यकता हो सकती है। उपचार के विकल्पों पर उचित निदान और मार्गदर्शन के लिए स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर से परामर्श करना महत्वपूर्ण है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
App download animated image Get the free App now