बार बार हिचकियां आने से कैसे रोकें, अपनाएं ये 12 उपाय

बार बार हिचकियां आने से कैसे रोकें, अपनाएं ये 12 उपाय (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
बार बार हिचकियां आने से कैसे रोकें, अपनाएं ये 12 उपाय (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

हिचकी परेशान करने वाली और विघटनकारी हो सकती है, लेकिन सौभाग्य से, इसकी बार-बार होने वाली घटना को रोकने के लिए आप कई उपाय कर सकते हैं। उन परेशान करने वाली हिचकियों से बचने में आपकी मदद के लिए यहां 12 व्यावहारिक सुझाव दिए गए हैं:-

बार बार हिचकियां आने से कैसे रोकें, अपनाएं ये 12 उपाय (12 Simple Measures To Prevent Frequent Hiccups In Hindi)

1. धीरे-धीरे और ध्यान से खाएं: बहुत जल्दी-जल्दी खाने या पेय पदार्थ गटकने से हिचकी आ सकती है। हवा के अचानक प्रवेश को रोकने के लिए खाने और पीने के दौरान अपना समय लें, जिससे हिचकी आ सकती है।

2. ज़्यादा खाने से बचें: ज़्यादा खाने से डायाफ्राम पर दबाव पड़ सकता है, जिससे हिचकी आ सकती है। इस समस्या से बचने के लिए छोटे, अधिक बार भोजन का विकल्प चुनें।

3. तनाव को प्रबंधित करें: तनाव और चिंता हिचकी में योगदान कर सकते हैं। तनाव के स्तर को नियंत्रण में रखने के लिए गहरी साँस लेना, ध्यान या योग जैसी विश्राम तकनीकों का अभ्यास करें।

4. हाइड्रेटेड रहें: निर्जलीकरण कभी-कभी हिचकी का कारण बन सकता है। सुनिश्चित करें कि आप हाइड्रेटेड रहने के लिए पूरे दिन पर्याप्त मात्रा में पानी पियें।

5. कार्बोनेटेड पेय पदार्थों से बचें: कार्बोनेटेड पेय पेट में अतिरिक्त गैस पैदा कर सकते हैं, जिससे हिचकी आ सकती है। कार्बोनेटेड पेय पदार्थों का सेवन सीमित करें।

6. शराब का सेवन सीमित करें: शराब डायाफ्राम को परेशान कर सकती है और हिचकी का कारण बन सकती है। इस समस्या से बचने के लिए संयम महत्वपूर्ण है।

7. मसालेदार भोजन से बचें: मसालेदार भोजन एसिड रिफ्लक्स का कारण बन सकता है, जिससे हिचकी आ सकती है। मसालेदार भोजन का सेवन सीमित करें, खासकर सोने से पहले।

8. धूम्रपान छोड़ें: धूम्रपान डायाफ्राम को परेशान कर सकता है और हिचकी की आवृत्ति को बढ़ा सकता है। यदि आप धूम्रपान करते हैं, तो छोड़ने से हिचकी कम करने सहित कई स्वास्थ्य लाभ हो सकते हैं।

9. अच्छी मुद्रा बनाए रखें: झुककर बैठना या खराब मुद्रा हिचकी में योगदान कर सकती है। विशेष रूप से भोजन करते समय अपने आसन पर ध्यान दें।

10. सावधानी से चबाएं और निगलें: बहुत तेजी से खाना या ठीक से न चबाना हिचकी का कारण बन सकता है। जोखिम को कम करने के लिए अपने भोजन को अच्छी तरह चबाएं और सावधानी से निगलें।

11. एसिड रिफ्लक्स को प्रबंधित करें: एसिड रिफ्लक्स हिचकी को ट्रिगर कर सकता है। यदि आपको एसिड रिफ्लक्स की समस्या है, तो उचित प्रबंधन के लिए किसी स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर से परामर्श लें।

12. सोने से पहले गर्म और मसालेदार भोजन से बचें: सोने से पहले गर्म और मसालेदार भोजन का सेवन करने से आपकी नींद में बाधा डालने वाली हिचकी की संभावना बढ़ सकती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
App download animated image Get the free App now