कान दर्द का घरेलू इलाज

कान दर्द का घरेलू इलाज (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
कान दर्द का घरेलू इलाज (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

कान दर्द (Earache) एक आम स्वास्थ्य समस्या है जो किसी भी उम्र में हो सकती है। यह दर्द कान के अंदर होता है और अक्सर तकलीफदायक होता है। कान दर्द के कई कारण हो सकते हैं, जैसे की सुनने में समस्या, कान में इंफेक्शन या अचानक कान में पानी चला जाना। इसके लिए आप घरेलू इलाज का सहारा ले सकते हैं। यहाँ विभिन्न कारणों से होने वाले कान दर्द के लिए कुछ प्रमुख घरेलू उपाय दिए जा रहे हैं:-

कान दर्द का घरेलू इलाज (15 Home remedies for ear pain in hindi)

youtube-cover

1. गर्म तेल का उपयोग: थोड़ा सा गर्म तेल या जौ के तेल को कान में डालने से कान दर्द में राहत मिलती है।

2. आलू के पत्तों का उपयोग: आलू के पत्ते को सुन कर गरम करके कान में डालने से दर्द कम होता है।

3. अदरक का रस: अदरक का रस नाक में डालने से कान के दर्द में आराम मिलता है, क्योंकि इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं।

4. प्याज का रस: प्याज का रस भी कान दर्द में राहत पहुँचा सकता है।

5. नमीपानी का उपयोग: गुग्गुल (नमीपानी) को गरम करके कान में डालने से दर्द में कमी आ सकती है।

6. सूरजमुखी के तेल का उपयोग: सूरजमुखी के तेल को हल्के गरम ताप पर डालकर कान में डालने से आराम मिलता है।

7. गर्म पानी बोतल: गर्म पानी की बोतल को कान के पास रखकर रखने से भी दर्द में आराम मिलता है।

8. खुद को आराम देना: कान दर्द के समय सिर पर आराम करना और नींद पूरी करना भी महत्वपूर्ण है।

9. सुन से बचाव: कान में पानी न जाने देने के लिए सुन से बचना चाहिए, खासतर जब आप नहा रहे हों।

10. अंजीर का पेस्ट: अंजीर को पीसकर गरम तेल के साथ मिलाएं और इस पेस्ट को कान के बाहरी हिस्से पर लगाएं। यह दर्द को कम कर सकता है।

11. तुलसी के पत्ते: तुलसी के पत्तों को गरम पानी में डालकर थोड़ी देर के लिए भिगोकर, इन्हें कान में डालने से दर्द कम हो सकता है।

12. नीम के पत्ते: नीम के पत्तों के रस का उपयोग इंफेक्शन से बचाव के लिए किया जा सकता है।

13. आदरक और शहद: आदरक का रस और शहद को मिलाकर पीने से दर्द में आराम मिलता है, क्योंकि यह गर्मियों में भीगने से आती खराबियों से बचाव करता है।

14. धूप से बचाव: धूप में जाते समय कान को ठंडा रखने के लिए टोपी या छाया का उपयोग करना चाहिए, क्योंकि धूप से कान में जलन और दर्द हो सकता है।

15. उचित हाइजीन: कान की सफाई और उचित हाइजीन का ध्यान रखना भी कान के स्वास्थ्य को बेहतर बना सकता है।

कान दर्द असुरक्षित हो सकता है, और इसे बिना चिकित्सक की सलाह के स्वयं उपचार करने का प्रयास अधिक समस्याओं का कारण बन सकता है। जब कान दर्द स्थाई होता है, तो तुरंत चिकित्सक की सलाह लें।

youtube-cover

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
App download animated image Get the free App now