Create
Notifications

ओलोंग टी के 3 फायदे और 3 नुकसान - Oolong Tea Ke 3 Fayde Aur 3 Nuksan

ओलोंग टी के 3 फायदे और 3 नुकसान (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
ओलोंग टी के 3 फायदे और 3 नुकसान (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
reaction-emoji
Vineeta Kumar

ओलोंग टी (Oolong Tea) एक पारंपरिक चीनी चाय है। यह प्रसिद्ध टी चीन के फुजान प्रांत से आती है जो कैमेलिया सिनेंसिस (Camellia Sinensis) पौधे की पत्तियों, कलियों और शाखाओं से प्राप्त होती है। ओलोंग टी उसी पौधे से बनाई जाती है जिससे ग्रीन और काली चाय बनाई जाती है। ओलोंग टी, चाय की एक दुर्लभ और बहुमुखी श्रेणी है। ओलोंग टी कई डार्क और ग्रीन टी की अच्छाइयों को जोड़ती है। विभिन्न विकारों के इलाज से लेकर कई पुरानी बीमारियों को रोकने तक इसके चमत्कारी स्वास्थ्य लाभ हैं।

ओलोंग में विटामिन A, विटामिन B, विटामिन C, विटामिन E, विटामिन K, कैल्शियम, मैंगनीज, कॉपर, कैरोटीन, सेलेनियम, पोटेशियम, एंटी-ऑक्सिडेंट, कैफीन और अमीनो एसिड आदि गुण पाए जाते हैं। ओलोंग टी के अपने इन औषधीय गुणों के कारण ही मशहूर है। इस लेख के माध्यम से आप ओलोंग टी के फायदे और नुकसान के बारे में जान पाएंगे। आइये इस विषय पर और चर्चा करें।

ओलोंग टी के 3 फायदे और 3 नुकसान

ओलोंग टी के फायदे (Oolong Tea Benefits In Hindi)

1. कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करे (Helps in cholesterol level)

ओलोंग टी के सेवन से खून से खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करने और आपके हृदय स्वास्थ्य में सुधार करने में मदद मिलती है। यह सेमीऑक्सिडीज़ेड है जो पूरी तरह से आकार के पॉलीफेनॉल मॉलिक्यूल का उत्पादन करता है और एंजाइम लाइपेस को एक्टिवेट कर सकता है, जो शरीर में फैट को डिसॉल्व कर देता है।

2. ब्लड शुगर को संतुलित करने में लाभदायक (Beneficial in balancing blood sugar)

ओलोंग टी में मौजूद पॉलीफेनोल एंटीऑक्सिडेंट ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित कर सकते हैं। यह टाइप 2 मधुमेह होने के खतरे को भी कम करता है।

3. इम्युनिटी को बढ़ावा देने में (Boosts immunity)

ओलोंग टी में ढेर सारे एंटी-ऑक्सिडेंट फ्लेवोनोइड्स होते हैं जो आपकी इम्युनिटी में सुधार करके सेल्युलर डैमेज को रोकते हैं। यह चाय आपके शरीर में जीवाणुरोधी प्रोटीन के उत्पादन को भी बढ़ा सकती है, जो संक्रमण से लड़ने में मदद करते हैं।

ओलोंग टी के नुकसान (Oolong Tea Side-Effect In Hindi)

1. ओलोंग टी मधुमेह के खतरे को कम करने में मदद कर सकती है। इसका अधिक इस्तेमाल मधुमेह के खतरे को बढ़ा सकता है। इसी कारण से मधुमेह के रोगी इसका सेवन डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही करें।

2. ओलोंग टी कैफीन का अच्छा स्रोत होता है। इसके अधिक सेवन से पेशाब बार-बार आना, मतली-उल्टी होना, बेचैनी और अनिद्रा जैसी समस्याएं उत्पन हो सकती हैं।

3. ओलोंग टी के सेवन से अधिक मात्रा में कैफीन प्राप्त की जा सकती है जिसके कारण हाई ब्लड प्रेशर की समस्या उत्पन हो सकती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Vineeta Kumar
reaction-emoji

Comments

Fetching more content...