Create
Notifications

सितोपलादि चूर्ण के 3 फायदे: Sitopaladi Churna Ke 3 Fayde 

सितोपलादि चूर्ण के फायदे कई सारे हैं जिनको जानकर आप बेहद अच्छा महसूस करेंगे। (फोटो: Onlymyhealth)
सितोपलादि चूर्ण के फायदे कई सारे हैं जिनको जानकर आप बेहद अच्छा महसूस करेंगे। (फोटो: Onlymyhealth)
Amit Shukla
visit

सितोपलादि चूर्ण को मिश्री, वंशलोचन, पिपली, दालचीनी एवं इलायची को मिलाकर बनाया जाता है। इसका सेवन करने से आपको लाभ होते हैं और आप चाहें तो इसका सेवन सुबह, दोपहर या शाम में से किसी भी समय कर सकते हैं। आपका शरीर हर प्रकार की बीमारियों से लड़ने का माद्दा रखता है।

ये बात और है कि समय के साथ हमने शरीर की इस ताकत को निष्क्रिय कर दिया है। शरीर अब वो शक्ति का अनुभव नहीं करता है जिसकी उसके पास सामर्थ्य है। इसके पीछे हमारा असंतुलित खान पान एक अहम भूमिका निभाता है। शरीर के अंदर हर रोग से लड़ने की क्षमता है लेकिन क्या हमने उसे उसका काम करने दिया है।

यदि नहीं तो जाहिर है कि हमने उसके काम में बाधा डाली है और उसका खामियाजा हमको भुगतना होगा। अगर आप भी इस तरह की परेशानी का हिस्सा हैं या आप खुद को इस परेशानी से दूर रखना चाहते हैं तो आपको आज ही सितोपलादि चूर्ण का सेवन करना चाहिए। आइए आपको बताते हैं सितोपलादि चूर्ण के वो फायदे जो आप नहीं जानते होंगे।

सितोपलादि चूर्ण के 3 फायदे: Sitopaladi Churna Ke 3 Fayde

सर्दी, खांसी और जुखाम को खत्म करे: Ends problems caused by cold and cough

सर्दी, खांसी और जुखाम शरीर की वो बीमारियाँ हैं जो आपको बहुत बीमार कर सकती हैं। इस दौरान इंसान कई बार सांस लेने में भी तकलीफ महसूस करता है। आप चाहें तो इस समय सितोपलादि चूर्ण का सेवन कर सकते हैं। इससे आपको काफी लाभ होगा जो एक बेहद अच्छी बात है।

भूख ना लगने की समस्या खत्म करे: Cures uneven food craving

अगर आपको भूख नहीं लग रही है या उसका समय अलग है तो इसका अर्थ है कि आपको पाचन या शरीर के एक तरीके से परेशानी है। ऐसे कई लोग होते हैं जिन्हें किसी भी समय भूख लगती है जबकि कुछ अन्य को किसी भी समय भूख नहीं लगती है। ऐसी स्थिति में आपको सितोपलादि चूर्ण का सेवन करना चाहिए। आप इसे पानी या दूध के साथ ले सकते हैं।

हाथों पैरों में जलन: Burning in hands and फ़ीट

हाथों और पैरों में जलन होना एक आम घटना नहीं है। ऐसे में अगर आप खुद को परेशानी से बचाना चाहते हैं तो आज ही सितोपलादि चूर्ण का सेवन करें। पैरों और हाथों में जलन का अर्थ है कि आपके शरीर का तापमान गड़बड़ है या आपका सेवन का क्रम गड़बड़ है। इन दोनों ही स्थितियों में आपको अपना ध्यान रखना चाहिए।

(डिस्क्लेमर: प्रस्तुत लेख में सुझाए गए टिप्स और सलाह केवल आम जानकारी के लिए है, इसे पेशेवर चिकित्सा सलाह के रुप में नहीं लिया जा सकता। कोई भी स्टेप लेने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श जरूर कर लें।)


Edited by Amit Shukla
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now