Create

टाइगर नट्स के 3 फायदे : Tiger Nuts Ke 3 Fayde

टाइगर नट्स के 3 फायदे (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
टाइगर नट्स के 3 फायदे (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

काजू और बादाम के बारे में तो आप सभी ने सुना ही होगा लेकिन टाइगर नट्स (Tiger Nuts) के बारे में शायद आपने ज्यादा ना सुना हो।। लेकिन आपको बता दें, टाइगर नट्स का नट्स परिवार से कोई सम्बंध नहीं होता है, बल्कि वे सिर्फ कंद (कुछ बीज पौधों का विशेष भंडारण) हैं जो विभिन्न विटामिन और मिनरल से भरपूर होते हैं। यह सेज (sedge) परिवार से संबंधित हैं और उन्हें चुफा (chufa) और अर्थ आलमंड (Earth almond) के रूप में भी जाना जाता है।

अगर सही तरीके से सेवन किया जाए तो टाइगर नट्स के कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं। टाइगर नट्स को ड्राइड, ताजा या यहां तक कि चूर्ण के रूप में भी खाया जाता है। मेवे के रूप में या "सब्जी" पर टॉपिंग के रूप में इन नट्स को खाया जा सकता है। इन्हें भूनकर भी खा सकते हैं। कभी-कभी इसे भिगो कर नाश्ते के रूप में भी खाया जा सकता है। टाइगर नट का आटा, तेल और दूध बनाकर भी सेवन किया जा सकता है। इस लेख में टाइगर नट्स के फायदे बताये गए हैं।

टाइगर नट्स के 3 फायदे

1. विटामिन और मिनरल से भरपूर (Rich in vitamins and minerals)

टाइगर नट्स, विटामिन और मिनरल से भरपूर होते हैं। टाइगर नट्स की एक सर्विंग में बहुत से पोषक तत्व (कैलोरी, फैट, कार्बोहायड्रेट, प्रोटीन, आयरन, मैग्नेसियम, जिंक) होते हैं। इन पोषक तत्वों के साथ टाइगर नट्स में एंटी-ऑक्सिडेंट मौजूद होते हैं जो इम्युनिटी को बढ़ाते हैं और कैंसर जैसी बीमारियों को रोकने में मदद करते हैं।

2. पाचन और वजन में सुधार करे (Improves digestion and promotes weight loss)

टाइगर नट्स में अच्छी मात्रा में फाइबर होते हैं। टाइगर नट्स में हाई फाइबर इंग्रेडिएंट होने से वजन घटाने में मदद मिलती है और कब्ज से राहत मिलती है। यदि आप वजन कम करना चाहते हैं तो टाइगर नट्स का सेवन फायदेमंद हो सकता है और यह लंबे समय तक आपका पेट भरा हुआ रखने में मदद करता है। फाइबर मौजूद होने के कारण टाइगर नट्स का सेवन पाचन तंत्र को स्वस्थ बनाए रखने में भी मदद करता है।

3. हृदय स्वास्थ्य के लिए लाभदायक (Beneficial for heart health)

टाइगर नट्स आपके हृदय स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा होता है। इनमें उच्च मात्रा में मोनोसैचुरेटेड फैट्स (monosaturated fats) होता है जो "बैड" LDL कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है और "गुड" HDL कोलेस्ट्रॉल बढ़ाता है। इसी कारण, स्ट्रोक और हार्ट अटैक का खतरा कम हो जाता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
Be the first one to comment