Create

त्रिकटु चूर्ण के 3 फायदे: Triktu Choorna Ke 3 Fayde 

त्रिकटु चूर्ण में वो फायदे हैं जो आपकी सेहत को अच्छा कर देंगे। (फोटो: लोकमत मराठी)
त्रिकटु चूर्ण में वो फायदे हैं जो आपकी सेहत को अच्छा कर देंगे। (फोटो: लोकमत मराठी)

त्रिकटु चूर्ण को शरीर के रोगों को दूर करने में बेहद कारगर माना जाता है। अगर आप अब तक त्रिफला और कायम चूर्ण के बारे में सुना था तो आज आपको इसके बारे में बताते हैं। इस चूर्ण को बेहद माना जाता है और शारीरिक सेहत के लिए ही नहीं, बल्कि कई अन्य प्रकार की सेहत में भी ये कारगर है।

मानसिक सेहत उनमें से एक है। आज कल की भाग दौड़ भरी जिंदगी में इस सेहत का ठीक रहना बेहद जरूरी है। अगर मानसिक सेहत ठीक नहीं रहती है तो आपको उससे काफी नुकसान होगा जिसमें परिवार में विवाद, स्वयं से संवाद, और डॉक्टर्स के द्वारा आपको अपवाद समझना शामिल है।

मानसिक सेहत पर कोई खास ध्यान नहीं दिया जाता है जबकि मानसिक सेहत एक बेहद जरूरी चीज है। अगर आपका दिमाग अच्छी तरह से काम कर रहा है तो आपने एक बड़ी लड़ाई को जीत लिया है जबकि वहीं अगर आपका दिमाग चल गया तो आपको उससे काफी नुकसान हो सकता है।

त्रिकटु चूर्ण के 3 फायदे: Triktu Choorna Ke 3 Fayde

इम्यूनिटी को बढ़ाए: Increases Immunity

इम्यूनिटी को बढ़ाने में त्रिकटु चूर्ण बेहद लाभकारी है। अगर आप अपनी सेहत को ठीक रखना चाहते हैं तो 20 ग्राम काली मिर्च, पीपली और सोंठ लें। इसे धूप में सुखा लें और फिर इसे पीस लें। अब इस चूर्ण का सेवन करने से आपको इम्यूनिटी बढ़ाने में मदद मिलेगी जो एक अच्छी बात होगी।

पाचन को ठीक करे: Improves Digestion

पाचन को ठीक करने के लिए आपको त्रिकटु चूर्ण का सेवन करना चाहिए। आपका शरीर पाचन के बिना बेकार है और अगर आपका पेट या पाचन तंत्र प्रभावित है तो आपको काफी परेशानी हो सकती है। ऐसे में पीपली, काली मिर्च, धनिया के बीज, जायफल, अजवाइन और सोंठ को एक साथ लेकर ये चूर्ण बनाएं। पेट और पाचन को ठीक रखने में अजवाइन और जायफल मददगार होते हैं। इसको ऊपर दी गई विधि या इस विधि से बनाया जा सकता है।

थायरॉइड को दूर करे: Removes Thyroid

थायरॉइड को दूर करने के लिए आपको इसका सेवन गिलोय के साथ करना चाहिए। आप इसको आधा चम्मच सुबह और शाम को ले सकते हैं। इससे आपको काफी लाभ होगा। त्रिकटु चूर्ण एंटी एलर्जीक (Anti Allergic), एंटी बैक्टीरियल (Anti Bacterial), एंटी हिस्टमीन (Anti Histamine), एंटी वायरल (Anti Viral), एंटी बायोटेक (Anti Biotech), एंटी इंफ्लेमेटरी (Anti Inflammatory) होता है जो आपकी सेहत को बेहतर करने के लिए काफी है।

(डिस्क्लेमर: प्रस्तुत लेख में सुझाए गए टिप्स और सलाह केवल आम जानकारी के लिए है, इसे पेशेवर चिकित्सा सलाह के रुप में नहीं लिया जा सकता। कोई भी स्टेप लेने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श जरूर कर लें।)

Edited by Amit Shukla
Be the first one to comment