आरामदायक नींद के लिए रात के खाने के बाद आज़माने योग्य 3 योग आसन

3 Yoga Asanas To Try Post Dinner For Restful Sleep
आरामदायक नींद के लिए रात के खाने के बाद आज़माने योग्य 3 योग आसन

यदि आप नींद की समस्या से जूझ रहे हैं, तो योग को अपनी दिनचर्या में शामिल करने से मदद मिल सकती है। यहां ऐसे सरल योग आसन हैं जिन्हें आप रात के खाने के बाद विश्राम को बढ़ावा देने और अपने शरीर को आरामदायक नींद के लिए तैयार करने के लिए आज़मा सकते हैं।

निम्नलिखित बिन्दुओं पर ध्यान दें:-

बालासन (बाल मुद्रा)

बालासन, जिसे चाइल्ड पोज़ के रूप में भी जाना जाता है, एक सौम्य आगे झुकने वाला आसन है जो पीठ, कंधों और गर्दन में तनाव को दूर करने में मदद करता है। यह विश्राम को बढ़ावा देता है और मन को शांत करता है, जिससे यह सोने से पहले अभ्यास करने के लिए एक उत्कृष्ट आसन बन जाता है।

बालासन करने के लिए:

· अपने घुटनों को चौड़ा करके अपनी एड़ियों पर बैठें।

· अपने धड़ को अपनी जाँघों के बीच नीचे करें और अपनी बाहों को अपने सामने फैलाएँ।

· अपने माथे को चटाई पर टिकाएं और अपने पूरे शरीर को आराम दें।

· गहरी सांस लें और 5-10 सांसों तक इसी मुद्रा में रहें।

youtube-cover

बालासन रीढ़, कूल्हों और जांघों को फैलाता है, जिससे शारीरिक और मानसिक तनाव दूर होता है। यह गहरी सांस लेने को प्रोत्साहित करता है, जो पैरासिम्पेथेटिक तंत्रिका तंत्र को सक्रिय करने में मदद करता है, आराम और विश्राम की स्थिति को बढ़ावा देता है।

विपरीत करणी (पैर-ऊपर-दीवार मुद्रा)

विपरीत करणी, या लेग्स-अप-द-वॉल पोज़, एक पुनर्स्थापनात्मक आसन है जो गहन विश्राम और तनाव में कमी की अनुमति देता है। यह परिसंचरण में सुधार करने, थके हुए पैरों को राहत देने और तंत्रिका तंत्र को शांत करने में मदद करता है, जिससे यह सोने से पहले एक आदर्श मुद्रा बन जाता है।

विपरीत करणी का अभ्यास करने के लिए:

· एक दीवार के सामने अपनी दाहिनी ओर बैठें, अपने ऊपरी शरीर को ज़मीन पर टिकाते हुए धीरे से अपने पैरों को दीवार पर घुमाएँ।

· अपनी भुजाओं को बगल में आराम से रखें, हथेलियाँ ऊपर की ओर हों।

विपरीत करणी योग!
विपरीत करणी योग!

· अपनी आंखें बंद करें और धीमी, गहरी सांसें लें।

· 5-15 मिनट तक इसी मुद्रा में रहें, अपनी सांसों पर ध्यान केंद्रित करें और अपने शरीर को आराम दें।

विपरीत करणी हृदय और मस्तिष्क की ओर रक्त और लसीका द्रव के प्रवाह को बढ़ावा देती है, जिसका शरीर और दिमाग पर शांत प्रभाव पड़ सकता है। यह मुद्रा चिंता, तनाव और थकान को कम करने में मदद करती है और आपको शांतिपूर्ण नींद के लिए तैयार करती है।

शवासन (शव मुद्रा)

शव मुद्रा, योग अभ्यास में अंतिम विश्राम मुद्रा है। यह एक गहन पुनर्स्थापनात्मक आसन है जो शरीर और दिमाग को पूर्ण विश्राम की अनुमति देता है। रात के खाने के बाद शवासन का अभ्यास करने से तनाव दूर करने और आपको गहरी और आरामदायक नींद के लिए तैयार करने में मदद मिल सकती है।

शवासन का अभ्यास करने के लिए:

· अपनी पीठ के बल सीधे लेट जाएँ, भुजाएँ बगल में आराम से रहें, हथेलियाँ ऊपर की ओर रहें।

· अपनी आंखें बंद करें और धीमी, गहरी सांसें लें।

· अपने शरीर के प्रत्येक भाग से तनाव मुक्त करने पर ध्यान दें, अपने पैर की उंगलियों से शुरू करके अपने सिर तक।

· इस मुद्रा में 10-20 मिनट तक रहें, जिससे आपका दिमाग शांत हो जाए और आपका शरीर पूरी तरह से आराम कर ले।

शवासन शारीरिक और मानसिक थकान को कम करने, तनाव कम करने और गहन विश्राम की स्थिति को बढ़ावा देने में मदद करता है। यह आपकी योग दिनचर्या को समाप्त करने और आपके शरीर और दिमाग को रात की आरामदायक नींद के लिए तैयार करने के लिए एक आदर्श आसन है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by वैशाली शर्मा
App download animated image Get the free App now