अंडे में पीला वाला हिस्सा खाने के 4 फायदे - Ande Me Peela Wala Hissa Khane Ke Fayde  

अंडे में पीला वाला हिस्सा खाने के फायदे ( फोटो - Sportskeeda hindi)
अंडे में पीला वाला हिस्सा खाने के फायदे ( फोटो - Sportskeeda hindi)

अंडे (Egg) का सेवन सेहत के लिए बहुत अच्छा माना जाता है। आमतौर पर वो लोग भी अंडा खा लेते हैं, जिन लोगों को चिकन, मटन का सेवन करना पसंद नहीं। क्योंकि अंडा खाने में स्वादिष्ट तो लगता ही है, साथ ही इसमें प्रोटीन की मात्रा भी अधिक होती है। लेकिन अक्सर देखा गया है कि लोग अंडे का पीला भाग निकाल देते हैं और उसके सफेद हिस्से का ही सेवन करते हैं। ऐसे में लोग अंडे के बहुत जरूरी पोषक तत्व को फेक देते हैं। आपको बता दें कि अंडे के पीले हिस्से में विटामिन डी की भरपूर मात्रा होती है। जो हमारी हड्डियों को मजबूत रखती है। इसका सेवन रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है और शरीर को ऊर्जा भी प्रदान करता है।

अंडे में पीला वाला हिस्सा खाने के फायदे

जिस तरह से अंडे का सफेद हिस्सा फायदेमंद होता है। उसी तरह इसका पीला भाग भी सेहत के लिए बहुत जरूरी होता है। अक्सर लोग अंडे के पीले भाग (Egg Yolk) को फेक कर अंडे का सफेद भाग खाना पसंद करते है, क्योंकि उन्हें लगता है कि अंडे का सफेद भाग ज्यादा पौष्टिक होता है।

लेकिन हम आपको बता दें कि अंडे का पीला भाग भी पोषक तत्वों से भरपूर होता है। अंडे के पीले भाग में विटामिन डी (Vitamin D) , विटामिन ए (Vitamin A) , प्रोटीन (Protein), विटामिन बी (Vitamin B) पाए जाते हैं। अंडे के पीले भाग के सेवन से त्वचा(Skin) बहुत चमकदार बनती, बालों को पोषण, कमज़ोर नाखूनों को स्वस्थ रखने में भी मदद मिलती है। क्योंकि इसमें बायोटिन (Biotin) नाम का एक तत्व पाया जाता है जो इन एलर्जी (Allergy) से बचाने का काम करता है।

विटामिन डी हड्डियों (Bones) की मजबूती के लिए बहुत जरूरी होता है। इससे हड्डी मजबूत होती है। जिन लोगों की हड्डियों में से चटकने की आवाज़ आती है, उन्हें अंडे के पीले भाग का सेवन जरूर करना चाहिए।

अंडे के पीले भाग में पाए जाने वाला प्रोटीन, मसल्स (Muscle) के लिए जरूरी होता है। अगर आप जिम जा रहें हैं, तो पीले भाग का सेवन करना चाहिए। क्योंकि इससे आपके मसल्स कमजोर नहीं पड़ेंगे और उन्हें अच्छा प्रोटीन भी मिलेगा।

अंडे की जर्दी में कोलीन (Choline) पाया जाता है, जो एक तरह का विटामिन होता है और यह ब्रेन के विकास के लिए जरूरी होता है। यह मांसपेशियों को नियंत्रित रखने और याददाश्त (Memory) मजबूत करने में भी मददगार साबित होता है। इसके अलावा कोलीन में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जिसके सेवन से महिलाओं में स्तन कैंसर (Breast Cancer) का खतरा कम हो सकता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।