सफेद मूसली के फायदे

सफेद मूसली के फायदे (sportskeeda Hindi)
सफेद मूसली के फायदे (sportskeeda Hindi)

सफेद मूसली औषधि गुणों से भरी है। सफेद मूसली की जड़ और बीज काफी फायदेमंद होते हैं। सफेद मूसली की जड़ों में पोटैशियम, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, मैग्नीशियम, कैल्शियम आदि तत्व प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। सफेद मूसली के इस्तेमाल से आर्थराइटिस, कैंसर, मधुमेह (डायबिटीज), तनाव से राहत दिलाने, सूजन को कम करने और नपुंसकता आदि रोगों को दूर करने में मदद मिलती है। आइए जानते हैं सफेद मूसली के फायदे।

youtube-cover

सफेद मूसली के फायदे : 4 Benefits Of Safed Musli In Hindi

तनाव को कम करने के लिए -

सफेद मूसली का उपयोग तनाव को कम करने के लिए भी किया जा सकता है। सफेद मूसली की जड़ में एंटीस्ट्रेस और एंटीऑक्सीडेंट गुण पाया जाता है। इसमें पाया जाने वाला एंटीस्ट्रेस गुण जहां एक ओर तनाव की स्थिति को कम करने में फायदेमंद हो सकता है, वहीं दूसरी ओर इसके एंटीऑक्सीडेंट गुण का इस्तेमाल ऑक्सीडेटिव स्ट्रैस के कारण होने वाले विकारों के उपचार के लिए किया जा सकता है

पेट और मूत्र संबंधी बीमारियां दूर करने के लिए -

सफेद मूसली का इस्तेमाल दस्त रोकने, पेट की बीमारी, मूत्र संबंधी बीमारियों को दूर करने में फायदेमंद है। यही नहीं यौन संपर्क में आने से होने वाले बैक्टीरियल इंफेक्शन को दूर करने के लिए भी सफेद मूसली लाभदायक है।

शरीर की कमजोरी दूर करने के लिए -

सफेद मूसली का उपयोग महिलाओं में होने वाली बीमारी ल्यूकोरिया में मददगार साबित हो सकती है। यही नहीं संतुलित आहार या अन्य वजहों से शरीर में होने वाली शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए भी सफेद मूसली का सेवन करना चाहिए.। इसके उपयोग के लिए सफेद मूसली के कंद के 2-4 ग्राम चूर्ण में मिश्री मिला लें। इसके बाद दूध के साथ इसका सेवन करें। इससे सामान्य और लिंग संबंधी कमजोरी भी दूर होगी।

शुक्राणु दोष में भी लाभदायक -

पुरुषों में होने वाले शुक्राणु (Sperm) दोष को दूर करने के लिए भी सफेद मूसली मददगार साबित हो सकती है। इसके लिए 2-4 ग्राम सफेद मूसली के चूर्ण में इतनी ही चीनी डालें और गाय के दूध के साथ सेवन करें। इससे वीर्य दोष ठीक होता है। सफेद मूसली में पाया जाने वाला एंटीऑक्सीडेंट गुण प्रजनन क्षमता को बढ़ाने में फायदेमंद हो सकता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan