कैंसर सहित कई समस्याओं का रामबाण इलाज है सिंघाड़ा, जानिए इसके चमत्कारी फायदे

कैंसर सहित कई समस्याओं का रामबाण इलाज है सिंघाड़ा
कैंसर सहित कई समस्याओं का रामबाण इलाज है सिंघाड़ा

ठंड का मौसम आते ही बाजार में सिंघाड़ा (Water Chestnut) मिलना शुरू हो जाता है। हर किसी को इसका स्वाद पसंद होता है। पानी में उगने वाला यह फल कई महत्वपूर्ण पोषक तत्वों का एक बेहतरीन सोर्स है। सिंघाड़ा सेहत के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है, क्योंकि इसके सेवन से विभिन्न प्रकार की बीमारियां व स्वास्थ्य समस्याओं से निजात मिल सकता है। तो चलिए जानते हैं सिंघाड़ा खाने के फायदे।

youtube-cover

कैंसर सहित कई समस्याओं का रामबाण इलाज है सिंघाड़ा, जानिए इसके चमत्कारी फायदे : 4 Benefits Of Water Chestnut In Hindi

ब्लड शुगर में फायदेमंद -

सिंघाड़े में फाइबर, मिनरल्स और एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं, जो शरीर का ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल रखने में मदद करता है। अगर किसी व्यक्ति को डायबिटीज की समस्या है तो ऐसे में उसके लिए सिंघाड़े को अपनी डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए।

सूजन और दर्द में राहत मिलती है -

सिंघाड़े में फेनोलिक एंटीऑक्सीडेंट होते हैं, जो फ्री रेडिकल्स से होने वाले डैमेज को रोकते हैं। इसके अलावा, सिंघाड़े में पेन रिलीविंग इफेक्ट होते हैं, जो शरीर में होने वाले दर्द से राहत दिलाते हैं। सिंघाड़े से पेट का अल्सर, फीवर और स्किन इन्फेक्शन की समस्या से राहत दिलाने में मदद कर सकता है।

पाचन क्रिया के लिए लाभकारी -

सिंघाड़ा में पर्याप्त मात्रा में फाइबर पाया जाता है, जो पाचन क्रिया (Digestion) को अच्छा करते हैं। इसके अलावा, फाइबर से भरपूर होने के कारण सिंघाड़ा खाने से आंतों की सेहत भी अच्छी होती है। वहीं, जिन लोगों को कब्ज की समस्या रहती है उनके लिए सिंघाड़ा खाना फायदेमंद होता है।

कैंसर सेल्स को कम करता है

आपको बता दें, सिंघाड़े में एंटीऑक्सीडेंट फेरूलिक एसिड पाया जाता है, जो ब्रेस्ट कैंसर (Breast Cancer) के ग्रोथ को बढ़ने से रोकता है। इसके अलावा, सिंघाड़े थाइरोइड, लंग्स, बोन और स्किन कैंसर सेल्स को बनने नहीं देता है। इसमें मौजूद फ्री रेडिकल्स के खतरनाक प्रभाव को कम कर देते हैं, जिसकी वजह से कैंसर होने का खतरा कम हो सकता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan