Create

मीठा खाने से सेहत को होने वाले 4 फायदे - Meetha Khane Se Sehat Ko Hone Wale Fayde

मीठा खाने से सेहत को होने वाले फायदे (फोटो - Sportskeeda Hindi )
मीठा खाने से सेहत को होने वाले फायदे (फोटो - Sportskeeda Hindi )

मीठा खाने से नुकसान होता है ये तो सभी ने सुना है। लेकिन मीठा (Sweet) खाने के फायदे भी होते हैं ये कम ही सुनने में आता है। वैसे तो हम सभी लोग मीठा खाने से अब परहेज करने लगे हैं क्योंकि ज्यादातर बीमारियां मीठा खाने के कारण होती हैं। लेकिन कुछ ऐसी मीठी चीजें भी होती हैं जिनका सेवन नुकसानदायक नहीं होता, बल्कि वो फायदा ही पहुंचाती हैं। बेशक शक्कर (Sugar) से बनी हुई मीठी चीजें नुकसान पहुंचा सकती हैं। इसलिए आज हम आपको कुछ ऐसे मीठे खाने के बारे में बताएंगे, जो सेहत के लिए फायदेमंद साबित होगा।

मीठा खाने से सेहत को होने वाले फायदे

स्ट्रोक के खतरे को कम करे मीठा (Sweets reduce the risk of stroke) - डार्क चॉकलेट (Dark Chocolate) का सेवन स्ट्रोक के खतरे से बचाता है। डार्क चॉकलेट ग्लूकोज़ के स्तर और लिपिड प्रोफाइल में सुधार करता है जो दिल के रोगों के जोखिम को कम करने में मदद करता है। डार्क चॉकलेट में फेवनोल्स होता है जो हार्ट सम्बंधी रोगों को जैसे रक्तचाप कम होना और रक्त प्रवाह में कमी को कम कर सकता है।

हाई बीपी में फायदेमंद मीठा का सेवन (Beneficial sweet intake in high BP) - मीठे में फ्लैवोनॉइड होता है, जो बीपी को कंट्रोल करने में मदद करता है। इसलिए डार्क चॉक्लेट का सेवन बीपी को कम करने में मददगार साबित होता है। कुछ रिसर्च में पाया गया है कि डार्क चॉकलेट या कोकोआ पाउडर को रोजाना 200 ग्राम लेना चाहिए।

शरीर में लाए एनर्जी (Bring energy to the body) - मीठा खाने से शरीर में एनर्जी का संचार होता है। कई बार आप थकान महसूस करते होंगे, इसी बीच आप कुछ मीठे का सेवन कर लें, तो शरीर में तुरंत एनर्जी का संचार हो जाता है, और आप दुबारा एनर्जेटिक महसूस करने लगेंगे हैं।

तनाव होता है कम (stress is less) - आजकल लोगों को स्ट्रेस की समस्या बहुत ज्यादा होती जा रही है। लेकिन क्या आप जानते हैं, तनाव को खत्म करने का एक और तरीका होता है और वो है मीठी चीज का सेवन करना। यदि आपको बहुत ज्यादा तनाव रहता है, तो चॉकलेट का सेवन कर सकते हैं। इससे आपको तुरंत आराम मिलेगा और आप बहुत रिलैक्स महसूस करेंगे।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Shilki
Be the first one to comment