मुंहासे की समस्या से लड़ने में मददगार हैं ये 4 प्राकृतिक उपचार

मुंहासे की समस्या से लड़ने में मददगार हैं ये 4 प्राकृतिक उपचार (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
मुंहासे की समस्या से लड़ने में मददगार हैं ये 4 प्राकृतिक उपचार (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

मुंहासे (Acne) सबसे आम और परेशान करने वाली त्वचा की समस्या है, जो किशोरों और युवा वयस्कों को सबसे अधिक प्रभावित करती है। जब मुंहासे निकलते हैं, तो हम हमेशा उनसे जल्द से जल्द छुटकारा पाना चाहते हैं क्योंकि वे दर्दनाक होते हैं और खराब दिखते हैं, खासकर जब वे चेहरे पर निकलते हैं। मुंहासे के इलाज के लिए बाजार में कई उपाय उपलब्ध हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि इन प्राकृतिक उपचारों से मुंहासों की समस्या से छुटकारा पाना बेहद आसान है?

मुंहासों को छिपाने और उनका इलाज करने के लिए दवा या सिंथेटिक उत्पादों का उपयोग न करें क्योंकि वे हमारी त्वचा के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद नहीं होते हैं। इसके बजाय, इन निम्न प्राकृतिक उपचारों में से किसी एक को आजमाएं और मुंहासों की समस्या से छुटकारा पाएं।

youtube-cover

मुंहासे की समस्या से लड़ने में मददगार हैं ये 4 प्राकृतिक उपचार (4 Natural Remedies Are Helpful In Fighting Acne Problem In Hindi)

1. सेब का सिरका (Apple cider vinegar)

एप्पल साइडर विनेगर मुँहासे पैदा करने वाले बैक्टीरिया से लड़ने की अपनी क्षमता के लिए जाना जाता है, जो इसे मुँहासे की समस्याओं से निपटने के लिए सबसे अच्छी सामग्री में से एक बनाता है।

उपयोग के लिए - एक भाग एप्पल साइडर विनेगर और तीन भाग पानी का पतला मिश्रण लगाएं। इसे लगाएं और एक मिनट बाद गुनगुने पानी से धो लें। बेहतर परिणाम के लिए इसे दिन में एक या दो बार इस्तेमाल करें।

2. शहद और दालचीनी लगाएं (Honey and cinnamon)

बैक्टीरिया और सूजन दो मुख्य कारक हैं जो मुंहासों की समस्या पैदा करते हैं और शहद और दालचीनी के मास्क इनसे लड़ने में आपकी मदद कर सकते हैं।

उपयोग के लिए - एक चम्मच दालचीनी पाउडर, आधा चम्मच मेथी के बीज का पाउडर, आधा चम्मच नींबू का रस और शहद को एक साथ मिलाएं। यह एक चिपचिपा पेस्ट होना चाहिए। इसे केवल मुंहासों या फुंसियों पर लगाएं और इसे कुछ घंटों या रात भर के लिए छोड़ दें।

3. हल्दी का प्रयोग करें (Turmeric)

हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो त्वचा को एक स्वस्थ और चमकदार स्पर्श प्रदान करते हैं। इसकी एंटी-बैक्टीरियल संपत्ति सूजन और फ्लेयर-अप को कम करके मुँहासे के साथ-साथ सोरायसिस के इलाज में अत्यधिक प्रभावी है।

उपयोग के लिए - इसे ओट पाउडर या बेसन जैसे एक्सफोलिएटिंग बेस के साथ प्रयोग करें। एक्ने या पिंपल्स पर एक्सफोलिएटिंग बेस न लगाएं।

4. टी ट्री ऑयल लगाएं (Tea tree oil)

टी ट्री में एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटीसेप्टिक, एंटीमाइक्रोबियल और एंटी-फंगल गुण होते हैं जो इसे एक शानदार मुँहासे उपचार घटक बनाते हैं। यह त्वचा की लाली और सूजन के इलाज में भी मदद करता है।

उपयोग के लिए - एक चम्मच जोजोबा तेल या गुलाब जल में 2 बूंद टी ट्री ऑयल मिलाएं। इसे रैशेज और पिंपल्स वाली जगह पर लगाएं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
App download animated image Get the free App now