तेज़ याददाश्त के लिए 5 शुरुआती योग आसन!

5 Beginner-Friendly Yoga Asanas For Sharp Memory!
तेज़ याददाश्त के लिए 5 शुरुआती योग आसन!

अपने अच्छे स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए कुछ पल निकालना और अपनी मानसिक भलाई को प्राथमिकता देना आवश्यक है। योग, एक प्राचीन अभ्यास जो शरीर और दिमाग में सामंजस्य स्थापित करता है, बेहतर स्मृति और संज्ञानात्मक कार्य सहित कई लाभ प्रदान करता है। यदि आप योग में नए हैं और अपनी मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ाना चाहते हैं, तो यहां कुछ शुरुआती योग आसन हैं जो तेज याददाश्त में योगदान कर सकते हैं।

निम्नलिखित इन 5 शुरुआती योग आसनों के बारे में आप यहाँ जान सकते हैं:

1. ताड़ासन (पर्वत मुद्रा):

अपने योगाभ्यास की शुरुआत ताड़ासन या माउंटेन पोज़ से करें। यह मूलभूत मुद्रा मन को उत्तेजित करते हुए मुद्रा और फोकस को बेहतर बनाने में मदद करती है। अपने पैरों को कूल्हे-चौड़ाई से अलग रखें, भुजाएं बगल में रखें और वजन समान रूप से वितरित हो। अपनी जाँघों को संलग्न करें, अपनी छाती को ऊपर उठाएँ, और हथेलियों को एक-दूसरे के सामने रखते हुए अपनी भुजाओं को ऊपर की ओर ले जाएँ। अपनी सांसों पर ध्यान केंद्रित करते हुए और खुद को स्थिर करते हुए मुद्रा को बनाए रखें।

ताड़ासन (पर्वत मुद्रा)
ताड़ासन (पर्वत मुद्रा)

2. पद्मासन (कमल मुद्रा):

पद्मासन, या लोटस पोज़, एकाग्रता और शांति को बढ़ावा देने के लिए प्रसिद्ध है। अपने पैरों को फैलाकर चटाई पर बैठें, फिर अपने पैरों को क्रॉस करें, प्रत्येक पैर को विपरीत जांघ पर रखें। अपनी रीढ़ सीधी रखें और अपने हाथों को अपने घुटनों पर टिकाएं। अपनी आँखें बंद करें और अपनी सांसों पर ध्यान केंद्रित करें, जिससे आपका मन शांत हो जाए। यह मुद्रा न केवल याददाश्त के लिए फायदेमंद है बल्कि तनाव को कम करने में भी सहायक है।

3. पश्चिमोत्तानासन (बैठकर आगे की ओर झुकना):

पश्चिमोत्तानासन आगे की ओर बैठकर किया जाने वाला आसन है जो रीढ़, हैमस्ट्रिंग और कंधों को फैलाता है। अपने पैरों को अपने सामने फैलाकर बैठें, सांस लें और अपनी बाहों को ऊपर की ओर ले जाएं। साँस छोड़ें और अपने कूल्हों पर झुकें, अपने पैरों की ओर पहुँचें। अपनी पीठ सीधी रखते हुए अपनी पिंडलियों, टखनों या पैरों को पकड़ें। यह मुद्रा मस्तिष्क में रक्त परिसंचरण में सुधार करती है, मानसिक स्पष्टता और स्मृति को बढ़ावा देती है।

4. भ्रामरी प्राणायाम (मधुमक्खी श्वास):

भ्रामरी प्राणायाम, या बी ब्रीथ, एक सरल साँस लेने का व्यायाम है जो मन को शांत कर सकता है और याददाश्त बढ़ा सकता है। आराम से बैठें, अपनी आंखें बंद करें और गहरी सांस लें। मधुमक्खी की तरह भिनभिनाने की आवाज निकालते हुए धीरे-धीरे सांस छोड़ें। अपने सिर और छाती में कंपन महसूस करें। सुखदायक प्रतिध्वनि पर ध्यान केंद्रित करते हुए कई बार दोहराएं। यह प्राणायाम तनाव को कम करने और एकाग्रता में सुधार करने में मदद करता है।

youtube-cover

5. सर्वांगासन (कंधे का रुख):

सर्वांगासन, या शोल्डर स्टैंड, एक उलटा आसन है जो मस्तिष्क में रक्त के प्रवाह को बढ़ाता है, तंत्रिका तंत्र को उत्तेजित करता है। अपनी पीठ के बल लेटें, अपने पैरों को ऊपर उठाएं और अपने हाथों से अपनी पीठ के निचले हिस्से को सहारा दें। अपनी कोहनियों को पास-पास रखें और अपने पैरों को छत की ओर सीधा करें। यह मुद्रा न केवल कंधों और गर्दन को मजबूत बनाती है बल्कि याददाश्त और मानसिक स्पष्टता को भी बढ़ाती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by वैशाली शर्मा