मुल्तानी मिट्टी के फायदे और नुकसान

मुल्तानी मिट्टी के फायदे और नुकसान (sportskeeda Hindi)
मुल्तानी मिट्टी के फायदे और नुकसान (sportskeeda Hindi)

मुल्तानी मिट्टी (Multani Mitti) का इस्तेमाल अक्सर लोग अपने चेहरे और बालों पर करते हैं। बता दें, जब कोई मुल्तानी मिट्टी को अपने बालों पर लगाता है, तो इससे बाल मजबूत और घने होते हैं। वहीं चेहरे पर मुल्तानी मिट्टी का इस्तेमाल करने से ग्लो आता है। क्योंकि मुल्तानी मिट्टी में एंटीसेप्टिक और एंटीऑक्सीडेंट गुण मौजूद होते हैं, इसके साथ ही इसमें कैल्शियम, मैग्नीशियम, सिलिका, डोलोमाइट, कैल्साइट, कार्टज जैसे तत्व भी पाये जाते हैं। जो स्किन के लिए लिहाज से काफी लाभदायक साबित होते हैं। तो चलिए जानते हैं मुल्तानी मिट्टी के फायदे और नुकसान के बारे में।

youtube-cover

मुल्तानी मिट्टी के फायदे - Multani Mitti Ke 5 Fayde In Hindi

डेड स्किन सेल्स से छुटकारा -

अगर किसी को डेड स्किन सेल्स हो रहे हैं, तो इसकी वजह से चेहरा बेजान लगने लगता है, लेकिन अगर आप मुल्तानी मिट्टी का फेस पैक चेहरे पर लगाते हैं, तो इससे डेड स्किन सेल्स से छुटकारा मिलता है।

पिंपल्स -

आजकल ज्यादातर लोग पिंपल्स (Pimples) की समस्या से परेशान रहते हैं। पिंपल्स की वजह से न्यक्ति के चेहरे की खूबसूरती खो जाती है। लेकिन अगर आप मुल्तानी मिट्टी और चदंन का फेस पैक लगाते हैं, तो इससे पिंपल्स की शिकायत से छुटकारा पा सकते हैं।

ऑयली स्किन की समस्या -

जिन लोगों की स्किन ऑयली होती है, उनके लिए मुल्तानी मिट्टी काफी फायदेमंद होती है। क्योंकि मुल्तानी मिट्टी लगाने से स्किन पर मौजूद अधिक तेल निकल जाते हैं।

बालों का रूखापन दूर करने के लिए -

मुल्तानी मिट्टी में दही मिलाकर बालों में लगाने से बालों का रूखापन दूर हो जाता है। आप इसे हफ्ते में दो दिन लगा सकते हैं।

बाल झड़ने की समस्या -

मुल्तानी मिट्टी का पैक बालों के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। मुल्तानी मिट्टी को बालों में लगाने से बाल झड़ना काफी हद तक बंद हो जाते हैं।

मुल्तानी मिट्टी के नुकसान - Multani Mitti Ke 2 Nuksan In Hindi

1 . ड्राई स्किन की समस्या - सर्दियों के मौसम में मुल्तानी मिट्टी का उपयोग करने से स्किन काफी ड्राई हो सकती है। क्योंकि इसकी तासीर ठंडी होती है। इसलिए सर्दी में सोच समझकर ही इसका इस्तेमाल करें।

2 . अगर आप मुल्तानी मिट्टी का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो इसे हफ्ते में दो बार से ज्यादा नहीं लगाएं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।