बालम खीरा का जूस पीने के फायदे

बालम खीरा का जूस पीने के फायदे
बालम खीरा का जूस पीने के 5 फायदे

बालम खीरा का नाम शायद बहुत कम लोगों ने सुना होगा। बालम खीरा में भले ही बालम के आगे खीरा लगा है लेकिन इसका ये मतलब बिल्कुल भी नहीं है कि इसका उपयोग भी खीरा की तरह ही किया जाता है। खीरा को हम कच्चा खा सकते हैं। इसकी स्मूदी बनाकर पी सकते हैं। लेकिन बालम खीरे के साथ ऐसा नहीं कर सकते हैं क्योंकि, ये कच्चा खाना ज़हर के समान होता है। दिखने में बालम खीरा और खीरा एकदम ही अलग होते हैं। जहां खीरा खाने में नरम होता है, तो वहीं बालम खीरा बहुत ज्यादा कड़ा होता है। इसको काटने के लिए किसी बड़ी और धार वाली वस्तु की जरूरत होती है। बालम खीरा के आर्युवेद में बहुत से महत्व बताए गए हैं। इसका पेड़ बहुत बड़ा होता है जिसमें ये फल, जिसे हम बालम खीरा के नाम से जानते हैं उगते हैं। बालम खीरा का चूर्ण, जूस, काढ़ा बनाकर सेवन किया जाता है। तो आइए आज हम इस लेख में जानेंगे बालम खीरा जूस पीने के क्या फायदे होते हैं।

बालम खीरा का जूस पीने के 5 फायदे - 5 Benefits of drinking Balam cucumber juice In Hindi

किडनी की पथरी में लाभदायक - बालम खीरे का जूस किडनी पथरी (kidney stones) के मरीजों के लिए बहुत लाभदायक होता है। इसके सेवन से पथरी कुछ ही समय में घुलकर बाहर निकल जाती है। बालम खीरा का जूस बनाने के लिए आप 1 किलो बालम खीरा को अच्छे से धो कर बारीक टुकड़ों में काट लें। उसके बाद इसको एक बर्तन में रखें और करीब 2 लीटर पानी डालकर इसे खूब उबालें। जब इसका पानी 1 लीटर बच जाए, तो इसे आधा कप दिन में दो बार सेवन करें।

स्किन एलर्जी में लाभदायक - कई लोगों को अक्सर स्किन में कहीं न कहीं एलर्जी (skin allergies) बनी होती रहती है। जिसके कारण खुजली होना, रैशेज होना इन सभी की समस्या बनी रहती है। अगर आप इस समस्या से निजात पाना चाहते हैं, तो इसके लिए आप बालम खीरा का काढ़ा बनाकर सेवन करने से सभी तरह की एलर्जी को दूर करता है। इसका दिन में दो बार सेवन करें।

शीघ्रपतन में करें बालम खीरा का सेवन - आजकल बहुत से लोग शीघ्रपतन (premature ejaculation) की समस्या से जूझ रहे हैं। इसके उपचार के लिए आप बालम खीरे को आग में पका लें और पकने के बाद उसको चूर्ण की तरह बना लें। रात में इसका 1 चम्मच पाउडर, गुनगुने दूध के साथ पीएं। कुछ ही दिनों में इस समस्या से राहत पा सकेंगे।

पीलिया के उपचार में कारगर - बालम खीरा के रस का सेवन करने से पीलिया jaundice जैसे रोगों से बचाव और लड़ने में मदद मिलती है। वहीं बालम खीरा के तने में क्लोरोक्वीन नामक यौगिक होते हैं, जिसका प्रयोग पीलिया के उपचार में किया जाता है।

दस्त में फायदेमंद - बालम खीरा की छाल का पाउडर बनाकर, इसे पानी में मिलाकर पीने से दस्त Diarrhea और पेट दर्द संबंधी समस्या से निजात पाया जा सकता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Shilki
App download animated image Get the free App now