उबटन लगाने के फायदे और बनाने का सही तरीका

उबटन लगाने के फायदे और बनाने का सही तरीका (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
उबटन लगाने के फायदे और बनाने का सही तरीका (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

उबटन एक प्राकृतिक, घरेलू त्वचा देखभाल उपाय है जो अपने कायाकल्प और पोषण गुणों के लिए जाना जाता है। यह जड़ी-बूटियों, मसालों और प्राकृतिक अवयवों का मिश्रण है जो त्वचा के लिए कई लाभ प्रदान करता है, जिससे यह त्वचा देखभाल दिनचर्या में एक लोकप्रिय विकल्प बन जाता है।

उबटन, एक पारंपरिक सौंदर्य पेस्ट है, जिसका उपयोग त्वचा की देखभाल के कई लाभों के लिए दक्षिण एशियाई संस्कृतियों में सदियों से किया जाता रहा है। यहां इसके लाभों और इसे सही तरीके से बनाने के बारे में एक मार्गदर्शिका दी गई है:-

उबटन लगाने के फायदे और बनाने का सही तरीका (5 Benefits of applying ubtan and the correct way to make it in hindi)

उबटन के फायदे

एक्सफोलिएशन: उबटन एक सौम्य एक्सफोलिएटर के रूप में कार्य करता है, मृत त्वचा कोशिकाओं को हटाता है और सेल टर्नओवर को बढ़ावा देता है, जिससे चिकनी और चमकदार त्वचा मिलती है।

गहरी सफाई: इसके प्राकृतिक अवयवों में सफाई के गुण होते हैं जो गंदगी, तेल और अशुद्धियों को हटाने में मदद करते हैं, त्वचा को साफ रखते हैं और छिद्रों को बंद होने से रोकते हैं।

चमकदार और समान टोन: उबटन का नियमित उपयोग त्वचा की रंगत को एक समान करने, हाइपरपिग्मेंटेशन को कम करने और त्वचा को प्राकृतिक चमक प्रदान करने में मदद कर सकता है।

नरम और मॉइस्चराइजिंग: चने का आटा, दही या दूध जैसे उबटन सामग्री में मॉइस्चराइजिंग गुण होते हैं, जो त्वचा को नरम, कोमल और हाइड्रेटेड रखते हैं।

सूजनरोधी और एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव: कई उबटन सामग्री, जैसे हल्दी और चंदन, में सूजन-रोधी और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जो त्वचा की सूजन को कम करते हैं और मुक्त कणों से होने वाले नुकसान से बचाते हैं।

उबटन बनाने का सही तरीका

सामग्री:-

2 बड़े चम्मच चने का आटा (बेसन)

1 बड़ा चम्मच हल्दी पाउडर

1 बड़ा चम्मच चंदन पाउडर

1 बड़ा चम्मच कच्चा शहद या गुलाब जल (शुष्क त्वचा के लिए) या दही (तैलीय त्वचा के लिए)

वैकल्पिक: अतिरिक्त नमी के लिए बादाम तेल या नारियल तेल की कुछ बूँदें

कदम (Steps):-

1. सूखी सामग्री मिलाएं: एक कटोरे में चने का आटा, हल्दी पाउडर और चंदन पाउडर मिलाएं। बिना किसी गुच्छे के एक सहज मिश्रण सुनिश्चित करें।

2. गीली सामग्री डालें: सूखे मिश्रण में धीरे-धीरे अपनी पसंद का तरल (शहद, गुलाब जल या दही) मिलाएं। इसे तब तक हिलाएं जब तक यह गाढ़ा, चिकना पेस्ट न बन जाए।

3. वैकल्पिक तेल मिलाना: यदि चाहें, तो अतिरिक्त नमी के लिए मिश्रण में बादाम या नारियल तेल की कुछ बूँदें मिलाएँ।

4. स्थिरता की जांच: उबटन पेस्ट इतना गाढ़ा होना चाहिए कि आसानी से लगाया जा सके लेकिन बहुत पतला नहीं होना चाहिए। वांछित स्थिरता के लिए सामग्री को आवश्यकतानुसार समायोजित करें।

5. आवेदन: उबटन पेस्ट को आंखों के क्षेत्र से बचते हुए, साफ, नम त्वचा पर धीरे से लगाएं। गोलाकार गति में मालिश करें और इसे 10-15 मिनट तक लगा रहने दें।

6. धो लें: सूखने के बाद, उबटन को गुनगुने पानी से धो लें, थपथपा कर सुखा लें और हल्का मॉइस्चराइजर लगा लें।

सप्ताह में एक या दो बार इस उबटन नुस्खे का उपयोग करने से त्वचा की बनावट, टोन और समग्र चमक में उल्लेखनीय सुधार हो सकता है। त्वचा के प्रकार के आधार पर सामग्री को अनुकूलित करने से अधिकतम लाभ सुनिश्चित होता है। हालांकि, संवेदनशील त्वचा वाले व्यक्तियों को किसी भी प्रतिकूल प्रतिक्रिया से बचने के लिए उबटन का उपयोग करने से पहले पैच परीक्षण करना चाहिए।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar