सुबह खाली पेट अश्वगंधा लेने से होगा ये

सुबह खाली पेट अश्वगंधा लेने से होगा ये (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
सुबह खाली पेट अश्वगंधा लेने से होगा ये (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

अश्वगंधा को सुबह खाली पेट लेने से शरीर और समग्र स्वास्थ्य पर कई प्रभाव पड़ सकते हैं। सुबह खाली पेट अश्वगंधा का सेवन करने के संभावित परिणाम इस प्रकार हैं:-

सुबह खाली पेट अश्वगंधा लेने से होगा ये (5 Benefits Of Ashwagandha On Empty Stomach In Hindi)

तनाव में कमी लाए:

- अश्वगंधा अपने एडाप्टोजेनिक गुणों के लिए जाना जाता है, जिसका अर्थ है कि यह शरीर को तनाव के अनुकूल बनाने और संतुलन को बढ़ावा देने में मदद करता है। अश्वगंधा को सुबह खाली पेट लेने से इसके सक्रिय यौगिकों का बेहतर अवशोषण और उपयोग होता है।

- अश्वगंधा के नियमित सेवन से तनाव से जुड़े हार्मोन कोर्टिसोल के स्तर को कम करने में मदद मिल सकती है, जिससे पूरे दिन मन शांत और अधिक आरामदायक रहता है।

ऊर्जा और जीवन शक्ति:

- माना जाता है कि अश्वगंधा ऊर्जा के स्तर और जीवन शक्ति को बढ़ाता है। जब इसे सुबह खाली पेट लिया जाता है, तो यह आपकी ऊर्जा के स्तर को प्राकृतिक रूप से बढ़ावा दे सकता है, जिससे पूरे दिन सतर्कता और फोकस में वृद्धि होती है।

- जड़ी बूटी स्वस्थ अधिवृक्क ग्रंथि समारोह का समर्थन करती है, जो शरीर में ऊर्जा उत्पादन और तनाव प्रतिक्रिया को विनियमित करने के लिए जिम्मेदार है। अधिवृक्क ग्रंथि का समर्थन करके, अश्वगंधा समग्र ऊर्जा स्तर को बढ़ा सकता है।

संज्ञानात्मक समारोह:

- अश्वगंधा का उपयोग परंपरागत रूप से संज्ञानात्मक कार्य और स्मृति में सुधार के लिए किया जाता रहा है। जब सुबह खाली पेट इसका सेवन किया जाता है, तो यह मानसिक स्पष्टता, फोकस और समग्र संज्ञानात्मक प्रदर्शन को बढ़ाने में मदद कर सकता है।

- जड़ी-बूटी में ऐसे यौगिक होते हैं जो एसिटाइलकोलाइन के उत्पादन और रिलीज का समर्थन करते हैं, जो सीखने और स्मृति के लिए महत्वपूर्ण न्यूरोट्रांसमीटर है। सुबह अश्वगंधा का सेवन करने से यह पूरे दिन मस्तिष्क की कार्यप्रणाली को अनुकूलित कर सकता है।

प्रतिरक्षा प्रणाली समर्थन:

- अश्वगंधा में इम्यून-मॉड्यूलेटिंग गुण होते हैं, जिसका अर्थ है कि यह प्रतिरक्षा प्रणाली के कार्य को विनियमित और समर्थन करने में मदद करता है। सुबह खाली पेट अश्वगंधा का सेवन करने से इसके प्रतिरक्षा-बढ़ाने वाले यौगिकों का बेहतर अवशोषण होता है।

- अश्वगंधा का नियमित उपयोग प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने में मदद कर सकता है, जिससे यह संक्रमण, बीमारियों और अन्य बाहरी खतरों के खिलाफ अधिक लचीला हो जाता है।

हार्मोनल संतुलन:

- अश्वगंधा का उपयोग पारंपरिक रूप से हार्मोनल संतुलन बनाए रखने के लिए किया जाता है, खासकर महिलाओं में। इसे सुबह खाली पेट लेने से पूरे दिन हार्मोनल विनियमन पर सकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है।

- जड़ी बूटी कोर्टिसोल, एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन जैसे हार्मोन के स्तर को संतुलित करने में मदद करती है, समग्र हार्मोनल सद्भाव को बढ़ावा देती है और संभावित रूप से हार्मोनल असंतुलन के लक्षणों को कम करती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
App download animated image Get the free App now