नींबू और लहसुन का जूस पीने के 5 फायदे

नींबू और लहसुन का जूस पीने के फायदे (sportskeeda Hindi)
नींबू और लहसुन का जूस पीने के फायदे (sportskeeda Hindi)

नींबू और लहसुन का जूस सेहत की कई समस्याओं को दूर करने में मदद कर सकता है। लहसुन में मौजूद पोषक तत्व नींबू के मिश्रण से उतेजित होते हैं. जो सेहत के लिए बहुत फायदेमंद हैं। बता दें कि नींबू के रस में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो ब्लड प्रेशर को कम करने और हृदय रोग के खतरे को कम करने में मदद करते हैं। लहसुन कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करके और ब्लड फ्लो में सुधार करके हृदय को हेल्दी बनाता है। तो आइए जानते हैं नींबू और लहसुन का जूस पीने के क्या-क्या फायदे हैं।

youtube-cover

नींबू और लहसुन का जूस पीने के 5 फायदे : 5 Benefits Of Lemon And Garlic Juice In Hindi

डिटॉक्सिफिकेशन -

नींबू और लहसुन की जूस अपने डिटॉक्सिफिकेशन (detoxification) के लिए जाना जाता हैं। यह जूस लीवर के कार्य को प्रोमोट देकर और टोक्सिन्स के उन्मूलन में सहायता करके, शरीर को शुद्ध करने में मदद करते हैं।

इम्यूनिटी होगी बूस्ट -

नींबू और लहसुन का जूस विटामिन सी, एंटीऑक्सीडेंट और रोगाणुरोधी गुणों से भरपूर होता है। बता दें कि इस जूस को रोजाना पीने से इम्यूनिटी (Immunity) मजबूत हो सकती है, जिससे इन्फेकशन और बीमारियों से बचने में मदद मिल सकती है।

पाचन तंत्र रहेगा स्वस्थ -

नींबू और लहसुन का जूस पाचन एंजाइमों के प्रोडक्शन को उत्तेजित करके और स्वस्थ आंत माइक्रोबायोम को प्रोमोट करके पाचन में सहायता कर सकता है। यह सूजन, अपच और कब्ज जैसी पाचन संबंधी समस्याओं को कम करने में मदद कर सकता है।

हृदय रहेगा हेल्दी -

नींबू और लहसुन दोनों ही दिल (Heart) के लिए फायदेमंद हो सकते हैं। बता दें कि नींबू के रस में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो ब्लड प्रेशर को कम करने और हृदय रोग के खतरे को कम करने में मदद करते हैं।वहीं, लहसुन कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करके और ब्लड फ्लो में सुधार करके हृदय को हेल्दी बनाता है।

वजन होगा कम -

नींबू और लहसुन का रस वजन को कम (Weight Loss) करने के लिए फायदेमंद हो सकता है। नींबू का रस एक नेचुरल ड्यूरेटिक के रूप में कार्य करता है, जो अतिरिक्त पानी के वजन को बाहर निकालने में मदद करता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan
Be the first one to comment