सांसों की दुर्गंध के लिए 5 प्रभावी घरेलू उपचार!

5 Effective Home Remedies for Bad Breath!
सांसों की दुर्गंध के लिए 5 प्रभावी घरेलू उपचार!

सांसों की दुर्गंध, जिसे हैलिटोसिस कहा जाता है, एक सामान्य स्थिति है। यह शर्मिंदगी और असुविधा का कारण बन सकता है, जिससे व्यक्तिगत और व्यावसायिक रिश्ते दोनों प्रभावित हो सकते हैं। जबकि उचित मौखिक स्वच्छता बनाए रखना महत्वपूर्ण है, ऐसे कई सरल और प्रभावी घरेलू उपचार हैं जो सांसों की दुर्गंध से निपटने में मदद कर सकते हैं।

आज हम 5 प्राकृतिक उपचारों के बारे में जानेंगे जो आपकी सांसों को तरोताजा कर सकते हैं और आपका आत्मविश्वास बहाल करने में आपकी मदद कर सकते हैं।

उचित मौखिक स्वच्छता:

ताज़ी सांस की नींव उत्कृष्ट मौखिक स्वच्छता बनाए रखने में निहित है। दिन में कम से कम दो बार अपने दांतों को ब्रश करने और नियमित रूप से फ्लॉसिंग करने से भोजन के कणों और प्लाक को हटाने में मदद मिलती है, जो सांसों की दुर्गंध का प्रमुख कारण होते हैं। अपने दांतों और जीभ को अच्छी तरह से साफ करने के लिए नरम ब्रिसल वाले टूथब्रश और फ्लोराइड टूथपेस्ट का उपयोग करना सुनिश्चित करें। अपनी जीभ को टंग का इस्तेमाल करें.

youtube-cover

ऑयल पुलिंग:

नारियल तेल का उपयोग आमतौर पर इसके रोगाणुरोधी गुणों के कारण तेल खींचने के लिए किया जाता है। इस उपाय को आजमाने के लिए, एक बड़ा चम्मच नारियल तेल लें और इसे थूकने से पहले अपने मुंह के चारों ओर 10-15 मिनट तक घुमाएं। याद रखें कि तेल को निगलें नहीं, क्योंकि इसमें हानिकारक बैक्टीरिया हो सकते हैं।

ताजी जड़ी-बूटियाँ और मसाले:

कुछ जड़ी-बूटियों और मसालों में प्राकृतिक गुण होते हैं जो सांसों की दुर्गंध से प्रभावी ढंग से निपट सकते हैं। उदाहरण के लिए, भोजन के बाद ताजा अजमोद या सीताफल की एक टहनी चबाने से आपकी सांसों को तरोताजा करने में मदद मिल सकती है। इन जड़ी-बूटियों में क्लोरोफिल होता है, जो प्राकृतिक दुर्गंधनाशक के रूप में कार्य करता है। वैकल्पिक रूप से, कुछ सौंफ के बीज, लौंग, या इलायची की फली चबाने से लार उत्पादन को बढ़ावा मिल सकता है और अप्रिय गंध को छुपाया जा सकता है।

खारे पानी से कुल्ला:

 खारे पानी से कुल्ला!
खारे पानी से कुल्ला!

खारे पानी से कुल्ला करने से मुंह में पीएच स्तर को संतुलित करके और बैक्टीरिया को कम करके सांसों की दुर्गंध से अस्थायी राहत मिल सकती है। एक गिलास गर्म पानी में आधा चम्मच नमक घोलें और इसे माउथवॉश की तरह इस्तेमाल करें। घोल को थूकने से पहले 30 सेकंड तक अपने मुँह में गरारे करें। खारे पानी से कुल्ला करने से गले के संक्रमण को कम करने और मसूड़ों की जलन को शांत करने में भी मदद मिल सकती है।

हाइड्रेटेड रहें और सब्जियां खाएं:

शुष्क मुंह सांसों की दुर्गंध का कारण बन सकता है क्योंकि लार मुंह को साफ करने और एसिड को निष्क्रिय करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। पूरे दिन पर्याप्त मात्रा में पानी पीकर हाइड्रेटेड रहने से शुष्क मुँह से निपटने और सांसों की दुर्गंध को रोकने में मदद मिल सकती है। सेब, गाजर और अजवाइन जैसे फल और सब्जियां खाने से लार उत्पादन उत्तेजित होता है और दांतों को प्राकृतिक रूप से साफ करने में मदद मिलती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by वैशाली शर्मा
App download animated image Get the free App now